व्यापार

Chemical free खेती करने में आई कई मुश्किलें, लेकिन हार नहीं मानकर यह व्यक्ति ऑर्गेनिक फार्मिंग से कर रहा मोटी कमाई……

Chemical free  नमस्कार दोस्तो स्वागत है आपका हमारे एक और न्यू आर्टिकल मे तो चलिए शुरू करते है खेती के क्षेत्र में तेज ग्रोथ देखने को मिल रही है. इस क्षेत्र में युवा में आगे आ रहे हैं. युवा अब बड़ी-बड़ी नौकरियां छोड़कर खेती में अपना करियर बना रहे हैं. खेती करने के साथ ही लोग पारंपरिक खेती की जगह आधुनिक तरीकों को अपनाकर खेती कर रहे हैं. आजकल लोग स्वास्थ्य के प्रति ज्यादा जागरूक हो रहे हैं. ऐसे में ऑर्गेनिक सब्जियों (Organic Vegetables Farming) और फलों की ज्यादा डिमांड रहती है.

ऑर्गेनिक खेती से बन सकते हैं सफल किसान
जो भी खेती करना चाहते हैं वे ऑर्गेनिक खेती (Organic Farming) कर सकते हैं. इससे सही दिशा में मेहनत के दम पर जबरदस्त मुनाफ़ा कमाया जा सकता है. उत्तर प्रदेश के बिजनौर के उमरी गांव के रितुराज सिंह (Rituraj Singh Success Story) ऐसे ही किसान हैं. जिन्होंने ऑर्गेनिक खेती के दम पर सफलता हासिल की. आज वे कई किसानों को प्रेरित कर रहे हैं.
रितुराज सिंह का परिवार खेती से जुड़ा था. लेकिन उन्होंने खेती में कोरोना महामारी की दौरान लगे लॉकडाउन से हाथ आजमाना शुरू किया. उन्होंने लॉकडाउन के दौरान गांव में रहते हुए ऑर्गेनिक फार्मिंग करने का फैसला किया. इस दौरान उन्हें यह आभाष हुआ कि केमिकल से सब्जियों और फलों को काफी नुकसान होता है.

Chemical free  आसान नहीं थी शुरुआत
शुरुआत में रितुराज ने पांच एकड़ जमीन पर खेती की शुरुआत की. उन्होंने खेत में ऑर्गेनिक प्रोडक्ट्स उगाना शुरू कर किया. लेकिन शुरुआत में ऑर्गेनिक प्रोडक्ट्स बेचना आसान नहीं था. काफी मुश्किलों के बाद भी उन्होंने हार नहीं मानी और अपने प्रोडक्ट्स बेचने के लिए विक्रेताओं से संपर्क किया. इसके बाद उन्होंने अपने प्रोडक्ट्स को बेचने के लिए ‘उमरी ऑर्गेनिक ऑर्चर्ड’ नाम से ब्रांड की शुरुआत की. जिसे कुछ समय बाद ही ग्राहकों के बीच ख़ास पहचान मिल गई.

READ MORE :  http://Goat Farming एकमात्र बिजनेस जिसमें आपको कभी नहीं होगा घाटा हमेशा होगा मुनाफा

Chemical free  इन फसलों की करते हैं ऑर्गेनिक खेती
केमिकल खाद के उपयोग के बिना रितुराज सरसों, धान, गेहूं, धान, गन्ने की ऑर्गेनिक खेती करते हैं. इसके साथ ही अपने खेतों में उगाई फसल से चीनी, सरसों का तेल जैसे कई प्रोडक्ट्स बनाते हैं. इतना ही नहीं वे कई सब्जियों और फलों की भी खेती करते हैं. जिनमें विदेशी फल और सब्जियां भी शामिल हैं.

वे ऑर्गेनिक प्रोडक्ट्स बेचकर सालाना 15 से 20 लाख रुपये का मुनाफ़ा कमाते हैं. इसके साथ ही वे अन्य किसानों को भी ऑर्गेनिक खेती के लिए प्रेरित करते

Back to top button