व्यापार

LEMON बेचकर शुरू किया कारोबार और बना दी कंपनी, जानें लेमन किंग की सफलता की कहानी….

LEMON : नमस्कार दोस्तो स्वागत है आपका हमारे एक और न्यू आर्टिकल मे तो चलिए शुरू करते हिं आज की सफलता की कहानी देश में खेती के क्षेत्र में तेजी से विकास हो रहा है. सरकार भी किसानों की मदद के लिए कई योजनाएं चला रही है. जिसके कारण कई लोग नौकरी छोड़ खेती की ओर रुख कर रहे हैं. ऐसे ही हैं राजस्थान के भीलवाड़ा जिले के अभिषेक जैन (Success Story of Lemon King Abhishek Jain) . जिन्होंने खेती को एक सफल कारोबार में बदल दिया और वे लेमन किंग बन गए.

LEMON  क्या है सफलता की कहानी –
भीलवाड़ा के रहने वाले अभिषेक जैन (Success Story of Lemon King Abhishek Jain) ने कॉमर्स की पढ़ाई की. इसके बाद उन्होंने खुद की कंपनी खोली. लेकिन अचानक पिता के निधन से वे वापस अपने गांव लौट गए और कंपनी बंद कर दी. इसके बाद उन्होंने खेती की शुरुआत की. उन्होंने बिना कुछ सीखे खेती की शुरुआत की. शुरुआत में उन्हें काफी समस्या का सामना करना पड़ा.

LEMON शुरुआत में नहीं हुआ फायदा –
अभिषेक ने शुरुआत में कई फैसले लिए, लेकिन उन्हें उम्मीद के अनुसार फायदा नहीं मिला. शुरुआत में उन्होंने अनार के पेड़ों की जगह पर अमरुद के बगीचे लगा दिए. लेकिन जब सफलता नहीं मिली तो उन्होंने इन्टरनेट के माध्यम से जानकारी जुटानी शुरू कर दी. वे कई किसानों के ग्रुप में भी जुड़ गए. जिससे उन्हें खेती से जुड़ी कई नई चीजे पता चली.उन्होंने अपनी जमीन पर डेढ़ एकड़ में अमरूद, चार एकड़ में नींबू और आधा एकड़ में गौशाला का निर्माण किया. इसके साथ ही उन्होंने फूड प्रोसेसिंग यूनिट की भी स्थापना की. वे अचार का निर्माण भी करने लगे.

READ MORE : http://Foolo के बिजनेस से कमाई पैसे, और बने आत्मनिर्भर

पिकल जंक्शन की स्थापना –
अपने खेत में उगाये गए नींबू से वे अचार का निर्माण करते हैं. इसके लिए उन्होंने ‘पिकल जंक्शन’ की भी स्थापना की. वे इस अचार को केवल स्थानीय बाजारों में ही नहीं बल्कि अमेजन पर भी बेचते हैं. जिससे उनका बिजनेस तेजी से बढ़ रहा है. नींबू की कुल फसल का लगभग बीस प्रतिशत वे अचार बनाने में इस्तेमाल करते हैं. बाकी के नींबू बाजार में बेचे जाते हैं. उनके बगीचे में बारहमासी, पतले छिलके के कागजी नींबू जैसी किस्म शामिल है. इसके साथ ही अमरूद की भी कई किस्म उनके बगीचे में शामिल है.

Back to top button