उत्तरप्रदेशराष्ट्रीय

Sex Racket Raid: पुलिस के सामने कॉल गर्ल्स का दर्द, साहब! बहकावे में आईं..मजबूरी का उठाया फायदा, पढ़ें मामला

Sex Racket Raid: पुलिस के सामने कॉल गर्ल्स का दर्द, साहब! बहकावे में आईं..मजबूरी का उठाया फायदा, पढ़ें मामला कानपुर में फीलखाना थाना क्षेत्र के मॉल रोड स्थित होटल रॉयल गैलेक्सी में बुधवार को पुलिस को छापे के दौरान सेक्स रैकेट संचालित मिला। पुलिस ने मौके से तीन कॉलगर्ल समेत सात लोगों को गिरफ्तार किया है। पकड़े गए लोगों में होटल मालिक, दो दलाल (एक महिला), एक ग्राहक शामिल हैं।

 

 

वहीं, मौके से पकड़ी गईं कॉल गर्ल्स के जिस्मफरोशी के धंधे में उतरने के पीछे कर कहानी सामने आई। तीनों ने पुलिस को पूछताछ में बताया कि एक युवक उनकी मजबूरी का फायदा उठाकर उन्हें इस धंधे में ले आया था। पुलिस अब उस युवक की भी तलाश कर रही है। उन्हें आरोपी नहीं बनाया गया है।

एडीसीपी पूर्वी आकाश पटेल ने बताया कि पिछले कई दिनों से होटल रॉयल गैलेक्सी में सेक्स रैकेट चलने की सूचना मिल रही थी। इसपर उन्होंने फीलखाना पुलिस फोर्स के साथ बुधवार दोपहर होटल में छापा मारा। मौके से तीन कॉलगर्ल, दो सौदा कराने वाले दलाल और दो ग्राहक मिले।

आपत्तिजनक सामग्री, नौ मोबाइल फोन और 2400 रुपये बरामद

आरोपियों की पहचान होटल मालिक अश्विनी गुप्ता उर्फ अंशु, दलाल शुक्लागंज निवासी दयाशंकर तिवारी, दलाल किदवईनगर निवासी पूजा दुबे, होटल कर्मचारी रामकिशन गौतम व ग्राहक जितेंद्र कुमार के रूप में हुई है। पुलिस ने मौके से भारी मात्रा में आपत्तिजनक सामग्री, नौ मोबाइल फोन और 2400 रुपये बरामद किए।

होटल के लाइसेंस संबंधित जानकारी हासिल की जा रही है

एडीसीपी आकाश पटेल ने बताया कि होटल के लाइसेंस संबंधित जानकारी हासिल की जा रही है। इसके साथ ही इसे सीज करने की प्रक्रिया भी शुरू कर दी गई है। वहीं, कहा है कि मामले में संबंधित थाने के पुलिसकर्मियों से भी पूछताछ होगी कि उन्हें कैसे जानकारी नहीं हो सकी।

किराये पर होटल लेकर रैकेट चलाने वाला फरार

एडीसीपी ने बताया कि होटल अंशु है। समरजीत नाम का शख्स उसे किराये पर लेकर उसमें सेक्स रैकेट चलवा रहा था। इसकी जानकारी होटल मालिक को भी थी। शुक्लागंज निवासी दयाशंकर और किदवईनगर निवासी पूजा ग्राहकों को लाते थे। समरजीत मौके से फरार हो गया है।

लालच देकर होटल में लाते थे ग्राहक

उसकी तलाश में दबिश दी जा रही है। पुलिस की पूछताछ में दयाशंकर ने बताया कि वह ग्राहकों को लालच देकर होटल में लाते थे। उन्हें 600 से 1000 रुपये में कॉलगर्ल उपलब्ध करवाते थे। इसके एवज में संचालक से कमीशन मिलता था। इसका ज्यादा हिस्सा होटल मालिक लेता था।

 

बहकावे में आईं कॉलगर्ल को पुलिस ने नहीं माना दोषी

मौके से पकड़ी गईं तीनों कॉलगर्ल को पुलिस ने दोषी नहीं माना है। तीनों ने पुलिस को पूछताछ में बताया कि एक युवक उनकी मजबूरी का फायदा उठाकर उन्हें इस धंधे में ले आया था। पुलिस अब उस युवक की भी तलाश कर रही है।

 

मेडिकल कराया, उन्हें आरोपी नहीं बनाया गया

एडीसीपी के अनुसार तीनों कॉलगर्ल का मेडिकल कराया गया है। उन्हें आरोपी नहीं बनाया गया है। कानूनी प्रक्रिया के बाद उन्हें छोड़ने की बात कही। बता दें कि होटल के मालिक अश्वनी गुप्ता उर्फ आशू हैं। उन्होने यह होटल समरजीत को किराये पर दे दिया। समरजीत होटल में रूम प्रोवाइड करारक सेक्स रैकेट चला रहा था।

 

आरोपियों के खिलाफ होगी कार्रवाई

सेक्ट रैकेट के मामले में मुख्य अपराध दलालों, होटल मालिक और जिसने रेंट पर होटल ले रखा है। उनके खिलाफ विधिक कार्रवाई की जाएगी। पकड़ी गईं लड़कियां स्थानीय हैं, कुछ लड़कियां उन्नाव जिले की हैं। लड़कियां अलग—अलग टाइम पर अलग समय पर आती थीं। इसकी जांच की जाएगी कि इस तरह का गैर कानूनी काम कब से चल रहा था।

Back to top button