Latest

Sarathi Portal Launched: किसानों के लि‍ए सारथी पोर्टल की शुरूआत, इस नंबर पर शिकायत होगी दर्ज

Sarathi Portal Launched: किसानों के लि‍ए सारथी पोर्टल की शुरूआत, इस नंबर पर शिकायत होगी दर्ज

Sarathi Portal Launched: किसानों के लि‍ए सारथी पोर्टल की शुरूआत, इस नंबर पर शिकायत दर्ज होगी। देश के किसानों के लिए सरकार की तरफ से कई कदम उठाए जा रहे हैं. आज कृषि मंत्री अर्जुन मुंडा ने ‘सारथी’ पोर्टल लॉन्च कर दिया है.इस सारथी पोर्टल का उद्देश्य फसल बीमा योजना (PM Fasal Bima Yojana) जैसी कई योजनाओं को एक फ्रेमवर्क प्रदान करना है. प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना (PMFBY) के तहत होने वाली परेशानियों और शिकायतों को दर्ज कराने के लिए एक हेल्पलाइन नंबर भी जारी किया गया है. अब किसान अपनी शिकायतों को हेल्पलाइन नंबर और पोर्टल पर दर्ज करा सकते हैं. इसका हेल्पलाइन नंबर 14447 है

सरकारी योजनाओं को फायदा लेने वाले किसानों की समस्या को देखते हुए यह पहल शुरू की गई है. इसमें पीएमएफबीवाई, संशोधित ब्याज सहायता योजना (MIIS) और किसान क्रेडिट कार्ड (KCC) के बारे में जानकारी मिलेगी.

किसानों के लिए नई पहल

कृषि मंत्री ने इन पहलों की शुरुआत के बाद कहा है कि हमारा मंत्रालय भारत को एक विकसित भारत में बदलने के लिए मिलकर काम कर रहा है. हम डिजिटल तकनीक को अपनाकर समय के साथ आगे बढ़ रहे हैं. इन सभी नई पहलों से निश्चित रूप से किसानों को लाभ होगा.

कौन-कौन रहा मौजूद?

इस कार्यक्रम में कृषि राज्य मंत्री कैलाश चौधरी और शोभा करणलाडजे, कृषि सचिव मनोज आहूजा और PMFBY के संयुक्त सचिव और सीईओ रितेश चौहान भी उपस्थित थे.

सिंगल-विंडो प्लेटफॉर्म होगा

पोर्टल ‘सारथी’ की जानकारी देते हुए चौहान ने कहा कि यह किसानों के लिए प्रक्रिया को सरल बनाते हुए एक डिजिटल बीमा यात्रा की पेशकश करेगा. यह पोर्टल बीमा उत्पादों को देखने, खरीदने और उनका लाभ उठाने के लिए सिंगल-विंडो प्लेटफॉर्म होगा.

3 चरणों में मिलेगी मदद

प्लेटफ़ॉर्म में डिजिटल पेमेंट ऑप्शन और प्रीमियम कलेक्शन, क्लेम, ट्रैकिंग और समाधान के अलावा अंशधारकों के लिए उपयोगकर्ता के अनुकूल इंटरफेस होंगे. चौहान ने कहा कि पहले चरण में व्यक्तिगत दुर्घटना और अस्पताल नकद पॉलिसी, दूसरे चरण में स्वास्थ्य, दुकान एवं घर का बीमा और तीसरे चरण में ट्रैक्टर, दोपहिया वाहन, पशुधन और गैर-पीएमएफबीवाई बीमा उत्पाद शामिल होंगे.

‘कृषि रक्षक पोर्टल और हेल्पलाइन’ इसके लिए सुविधा प्रदाता के रूप में काम करेगी जो बीमित किसान और बीमा कंपनियों, बैंकरों, सामान्य सेवा केंद्रों (सीएससी) और सरकारों के बीच फासले को कम करेगी. चौहान ने कहा कि किसान पोर्टल पर या हेल्पलाइन के माध्यम से बीमा संबंधी शिकायतें दर्ज करा सकते हैं जिन्हें निपटान के लिए बीमा कंपनियों को भेज दिया जाएगा. किसानों की शिकायतों का समाधान सुनिश्चित करने के लिए केंद्र मध्यस्थ होगा.

Back to top button