Latest

अब भारत में भी दौड़ेगी Tesla EV, कार कम्पनियों के होंश उड़ाने को तैयार

अब भारत में भी दौड़ेगी Tesla EV, कार कम्पनियों के होंश उड़ाने को तैयार

Tesla EV: अब भारत में भी दौड़ेगी Tesla EV, कार कम्पनियों के होंश उड़ाने को तैयार है वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री पीयूष गोयल ने शुक्रवार को जानकारी दी कि देश में नई इलेक्ट्रिक वाहन नीति को मंजूरी दी गई है. इस नीति के तहत भारत की कोशिश होगी कि दुनिया की बड़ी ईवी कंपनियां भारत में निवेश करें

नई इलेक्ट्रिक व्हीकल पॉलिसी

टेस्ला कारों का इंतजार इंडिया में लंबे समय से हो रहा है. अब इसके भारत आने का रास्ता साफ हो गया है और इसकी मैन्यूफैक्चरिंग भी देश में ही होगी. भारत सरकार ने एक नई इलेक्ट्रिक व्हीकल पॉलिसी को मंजूरी दी है, जो देश में इलेक्ट्रिक व्हीकल को बढ़ावा देने में मदद करेगी. इस पॉलिसी का मकसद भारत को दुनिया की इलेक्ट्रिक वाहन कंपनियों के लिए एक भरोसेमंद मैन्युफैक्चरिंग हब बनाना है.

.

करना होगा 4150 करोड़ का निवेश

नई नीति के हिसाब से अगर कोई इलेक्ट्रिक व्हीकल कंपनी भारत में अपना मैन्युफैक्चरिंग या असेंबलिंग प्लांट लगाना चाहती है, तो उसे कम से कम 50 करोड़ डॉलर (यानी 4,150 करोड़ रुपए) का निवेश करना जरूरी होगा. इसके बदले में उसे सरकार से कई तरह की टैक्स छूट का फायदा मिलेगा. इतना ही नहीं, कंपनी भारत के बाजार के एक्सेस के साथ-साथ ‘मेक इन इंडिया’ की मूल थीम के हिसाब से भारत में अपने प्रोडक्ट्स बनाकर उनका एक्सपोर्ट भी कर सकेगी

ईवी कंपनियों के बीच स्वस्थ प्रतिस्पर्धा

मंत्रालय ने कहा, ‘यह भारतीय उपभोक्ताओं को नवीनतम तकनीक तक पहुंच प्रदान करेगा, मेक इन इंडिया (भारत में उत्पादन करो) पहल को बढ़ावा देगा, ईवी कंपनियों के बीच स्वस्थ प्रतिस्पर्धा को बढ़ावा देकर ईवी परिवेश को मजबूत करेगा, जिससे उत्पादन की उच्च मात्रा, पैमाने की अर्थव्यवस्थाएं, उत्पादन की कम लागत और आयात में कमी आएगी, कच्चे तेल की आयात कम होगी, व्यापार घाटा कम होगा, विशेषकर शहरों में वायु प्रदूषण कम होगा और स्वास्थ्य एवं पर्यावरण पर सकारात्मक प्रभाव पड़ेगा.’

 

Back to top button