katniमध्यप्रदेश

New Year 2024 की पहली क्राइम मीटिंग में SP ने दिए वांछित अपराधियों की धरपकड़ के निर्देश, बेहतरीन काम करने वाले पुलिस अधिकारियों व जवानों को किया पुरस्कृत

कटनी। पुलिस अधीक्षक अभिजीत कुमार रंजन ने गुरूवार को शहरी थाना क्षेत्र एवं शुक्रवार को ग्रामीण थानो की New Year 2024 की प्रथम अपराध समीक्षा बैठक ली जिसमें मुख्यमंत्री मोहन यादव व पुलिस महानिदेशक, मध्यप्रदेश सुधीर सक्सेना के निर्देशानुसार पुलिस की जो प्राथमिकताएं तय हुई है, उस पर चर्चा की गई। साथ ही साथ जनवरी माह में पुलिस मुख्यालय द्वारा वांछित अपराधियों की धर पकड़ हेतु चलाये गए अभियान की जानकारी दी।

पुलिस अधीक्षक द्वारा जिले में चोरी,नकबजनी की वारदातों में कमी लाने हेतु सघन गस्त करने के दिशा-निर्देश दिए गए है। एसपी ने कहा कि जिले में चोरी की वारदातों को रोकने तथा उनका पर्दाफाश करने के लिए पुलिस अधिकारियों को टीम भावना के तहत तालमेल बनाकर काम करना है, ऐसे चोरी के अपराधी जो वर्तमान में जमानत पर है उन पर सतत निगाह रखते हुए उनकी आजीविका के स्त्रोत पर निगरानी रखी जाये । इस दौरान पुलिस अधीक्षक रंजन द्वारा पिछले साल उत्कृष्ट काम करने वाले पुलिस अधिकारियों व जवानों को पुरस्कृत किया गया।

पुलिस अधीक्षक द्वारा थाना प्रभारियों को थाना क्षेत्र में भ्रमण करने व संभ्रात लोगों से बैठक कर पुलिस की कार्यप्रणाली के बारे में चर्चा करने हेतु निर्देशित किया जिससे आमजन के मन में पुलिस के कार्य व उनकी प्रकृति के प्रति विश्वास रहे तथा “न्याय अंतिम लक्ष्य है” कि भावना से अवगत कराया जा सके।

एसपी श्री रंजन ने कहा कि वर्ष 2023 में जिस तरह अपराधियों के विरूद्ध लगातार कार्रवाई करने से अपराध में गिरावट आई ठीक उसी प्रकार वर्ष 2024 में भी अपराध में कमी लाने के प्रयास किए जाए। बेहतर पुलिसिंग की जाए।

पुलिस अधीक्षक ने सभी प्रभारियों को अपने-अपने थाना क्षेत्र में शांति एवं सुरक्षा व्यवस्था बनाए रखने हेतु सूचना तंत्र मजबूत कर संपत्ति संबंधी अपराध जैसे लूट, चोरी, धोखाधड़ी आदि को रोकने के लिए अधिक से अधिक लघु व प्रतिबंधात्मक अधिनियम के तहत कार्यवाही करने तथा रात्रि गस्त एवं पेट्रोलिंग को सुदृढ़ करने एवं थाना आने वाले फरियादियों की शिकायत को गंभीरता से सुनते हुए त्वरित कार्यवाही करने एवं सामुदायिक पुलिस के तहत वृहद स्तर पर स्कूल-कालेजों में जन जागरूकता के अभियान चलाने के निर्देश दिए। इस दौरान सभी अनुविभागीय अधिकारी (पुलिस) , समस्त थाना / चौकी प्रभारीगण मौजूद रहे ।

अपराधों के अनुसंधान में आधुनिक तकनीक का उपयोग एवं सीसीटीएनएस के संबंध में दिये निर्देश

पुलिस अधीक्षक द्वारा समस्त थानाधिकारियों को अपराधों के अनुसंधान में अधिकाधिक आधुनिक तकनिक प्रयोग करने एवं म.प्र. पुलिस के नये एप ई-रक्षक का उपयोग करने के निर्देश दिये । थानाधिकारियों को सीसीटीएनएस प्रोजेक्ट में ज्यादा से ज्यादा डाटा इन्द्राज करने के निर्देश दिये। समस्त विवेचना कार्य सीसीटीएनएस केस में ही सम्पादित करने के निर्देश दिये गये। थानों के रिकार्ड संधारण व कार्यवाहियों के संबंध में रिकार्ड मिलान, रजिस्टरों का भौतिक सत्यापन दिनांक 20.01.24 तक पूर्ण करने के निर्देश दिये गये ।

अपराध समीक्षा बैठक के दौरान पुलिस अधीक्षक महोदय द्वारा जिले में घटित अपराध के दो वर्षो के तुलनात्मक आंकणों का विश्लेषण किया गया । अवलोकन स्वरूप इस वर्ष नाबालिको के अपहरण में 12 प्रतिशत की कमी आई है । अन्य भादवि के अपराधो में कमी लाने हेतु लघु अधिनियम की धाराओं के तहत आर्म्स एक्ट में 40 प्रतिशत वृध्दि, जुआ एक्ट में 5 प्रतिशत वृध्दि, सट्टा एक्ट में 6 प्रतिशत वृध्दि, आबकारी एक्ट मंत 12 प्रतिशत वृध्दि, म.प्र. विस्फोटक पदार्थ अधि. में 27 प्रतिशत वृध्दि, एनडीपीएस एक्ट में 43 प्रतिशत वृध्दि हुई है । विगत वर्ष की तुलना में इस वर्ष महिलाओं पर घटित अपराधों में 10 प्रतिशत की कमी आई है ।

अनुसूचित जाति / जनजाति पर घटित अपराधो में 42 प्रतिशत की कमी आई हैं । जिले में असामाजित तत्वों एवं अपराधिक प्रावृत्ति के लोगों पर नियत्रंण करने हेतु 110 जा.फौ. 14 प्रतिशत अधिक, 107-116 जा.फौ. में 8 प्रतिशत वृध्दि, 151 जा.फौ. के प्रकरणों में 30 प्रतिशत की वृध्दि, 145 जा.फौ. के तहत 128 प्रतिशत वृध्दि, 122 जा.फौ. में 100 प्रतिशत वृध्दि, आदतन आपराधियों के विरूध्द जिला बदर के प्रकरणों पूर्व वर्ष की तुलना में 121 प्रकरण कायम किये गये जो कि पूर्व वर्ष से 59 प्रतिशत अधिक हैं । इसी प्रकार रासुका के प्रकरणों में पूर्व वर्ष की तुलना में 33 प्रतिशत की बढोत्तरी हुई हैं ।

संपत्ति संबंधी अपराधो के विश्लेषण पर पाया गया कि डकैती, लूट, साधारण चोरी, गृह भेदन, वाहन चोरी, रेत चोरी के प्रकरणों में कुल 222 प्रकरणों में अपराध खुलासा हुआ एवं 71 प्रतिशत संपत्ति बरामद की गई ।

अपराधों में कमी के मुख्य कारण

• कॉम्बिंग गश्त की गई, जिसमें अधिक से अधिक वारंट तामील कर आरोपियों को जेल भेजा।
• अपराधियों के खिलाफ प्रतिबंधात्मक कार्रवाई की गई।
• अभियान चलाकर फरार आरोपियों की धरपकड़ की गई।
• महिला संबंधी गंभीर अपराधों में तुरंत कार्रवाई।
• जिले में महिला सुरक्षा, बाल सुरक्षा पर लोगों को जागरूक किया।

वर्ष 2023 में न्यायालय में निर्णित दोषसिध्द चिन्हित प्रकरणों मे सजा
कटनी पुलिस द्वारा गंभीर, सनसनीखेज एवं चिन्हित 14 प्रकरणों में उच्च गुणवत्तापुर्ण अनुसंधान एवं वैज्ञानिक साक्ष्यों से सहमत होकर फलस्वरूप माननीय न्यायालय द्वारा 25 आरोपियों को आजीवन कारावास एवं अर्थदण्ड से दण्डित किया गया । एवं 07 आरोपियों को 20 वर्ष के कठोर कारावास एवं अर्थदण्ड से दण्डित किया गया हैं।

Back to top button

Togel Online

Rokokbet

For4d

Rokokbet

Rokokbet

Toto Slot

Rokokbet

Nana4d

Nono4d

Shiowla

Rokokbet

Rokokbet