katniLatestमध्यप्रदेश

Katni Crime हत्या का खुलासा: दुष्कर्म के बाद दो युवकों ने महिला को उतारा था मौत के घाट

दुष्कर्म की कोशिश में नाकाम दो युवकों ने महिला को उतारा था मौत के घाट

Katni Crime कटनी पुलिस ने महिला का शव मिलने की वारदात का खुलासा कर दिया है। महिला के साथ दुष्कर्म के बाद दो युवकों ने हत्या की थी तथा शव गुलवारा ओव्हर ब्रिज के पास फेंक दिया था।

घटना का विवरण देते पुलिस अधीक्षक अभिजीत रंजन बताया कि दिनांक 23.02.24 को डायल 100 के माध्यम से सूचना प्राप्त हुई कि गुलवारा ओवर ब्रिज के पास हाईवे के किनारे काले रंग की बोरी के अंदर किसी अज्ञात व्यक्ति का शव है जो बोरी के बाहर से उसका पेट दिख रहा है।

डायल 100 व थाना माधव नगर, चौकी झिंझरी का पुलिस स्टाफ तत्काल मौके पर पहुँचकर घटना स्थल का निरीक्षण किया जो बोरी के अंदर पैरा से लिपटा हुआ एक महिला का शव प्राप्त हुआ उक्त सूचना को तत्काल कंट्रोल रूम के माध्यम से सभी थानों को जानकारी देकर गुमशुगदी की जानकारी ली गई तभी थाना कोतवाली पुलिस के साथ रोशनी पटेल व उनका भाई प्रकाश पटेल मौके पर उपस्थित आये जिनसे शव की शिनाख्तगी कराई गई जिन्होंने शव को अपनी माँ राधा पटेल पति स्व.गोपी कृष्णा पटेल उम्र 47 साल नि. राजीव गाँधी वार्ड चौक खिरहनी थाना कोतवाली के रूप में पहचान की तथा मृतिका की पुत्री रोशनी पटेल ने बताया कि उसकी माँ राधा पटेल 3-4 दिन पहले घर से बिना बताये कही चली गई थी जिसकी गुमशुदगी की रिपोर्ट थाना कोतवाली में दर्ज कराई गई थी।

उक्त मृतिका के शव का मौके पर एफ. एस. एल. टीम व पुलिस टीम द्वारा निरीक्षण किया गया मृतिका का चेहरा विकृत हालत मे व शरीर मे नीलेपन के निशान पाये गये है। शव का पी.एम. जिला अस्पताल कटनी से कराया गया। मृतिका के चेहरे को किसी अज्ञात व्यक्ति द्वारा किसी वस्तु से कुचलकर हत्या करना प्रथम दृष्टया पाए जाने से थाना माधवनगर में अप.क्र. 130/24 धारा 302,201 भादवि का पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया।

पुलिस अधीक्षक अभिजीत रंजन के निर्देशन व नगर पुलिस अधीक्षक महोदय श्रीमती ख्याति मिश्रा के मार्गदर्शन में अज्ञात आरोपी की तलाश के लिये टीम बनाकर जल्द से जल्द से आरोपी की धरपकड़ के निर्देश दिये जो थाना प्रभारी माधवनगर द्वारा टीम लगाकर सीसीटीवी कैमरे व साइबर सेल की मदद से आरोपियों की तलाश पतासाजी की गई दौरान विवेचना के मृतिका के परिजनों से पूछताछ दौरान पता चला कि अधारकाप के विकास निषाद का

आना जाना मृतिका के घर में लगा रहता था विकास को मृतिका पुत्री रोशनी पटेल द्वारा फोन करने पर विकास का नंबर बंद आ रहा था। तथा मुखबिर से यह भी सूचना मिली कि जिस दिन से मृतिका गुमी है उस दिन से विकास निशाद व उसका दोस्त आकाश बर्मन अपने अपने घरों में नहीं आए। उक्त संदेहियों के तलाश के क्रम में मुखबिर द्वारा सूचना मिली कि विकास निषाद तथा आकाश बर्मन दोनो अधारकाप में विकास के खेत में रुके है जो तत्काल उक्त स्थान पर पुलिस द्वारा दबिस दी गई दोनो विकास के खेत में उपस्थित मिले व पुलिस को देखकर भागने का प्रयास किये जिन्हें घेराबंदी कर पकड़ा गया पूछताछ दौरान विकास ने बताया कि वह राधा बाई को पूर्व से जानता है तथा उसके घर में आना जाना लगा रहता था। दिनांक 20/02/24 की शाम करीब 05/00-05/30 बजे राधा पटले को सिलेण्डर कनेक्शन अपडेट कराने उनके घर राजीव गाँधी वार्ड शास्त्री कालोनी से अपनी दो पहिया सी.डी डॉन में बैठाकर एस.बी.आई तिराहा लाया जहाँ उसका दोस्त आकाश

बर्मन निवासी राजीव गाँधी वार्ड शास्त्री नगर का मिला जिसे साथ लेकर वे तीनो बस स्टेण्ड गैस एजेन्सी गये जहाँ समय अधिक होने से काम नहीं हुआ तब दोनो ने राधा बाई पटेल को विकास निषाद के खेत से ताजी सब्जी तोडकर देने का बहाना बनाकर अपने साथ ले गए जहां खेत के बीच में बनी मढिया (झोपडी) मे अन्दर जबरन लेटाकर बारी बारी बलात्कार करने की कोशिश की मृतिका द्वारा विरोध करने पर पहले आकाश ने मृतिका के चेहरे व शरीर में घूँसो एवं लातो से मारा और दोनो नें मृतिका के साथ बारी बारी करके जबरन बलात्कार किया जिससे मृतिका बेसुध सी हो गई मृतिका द्वारा जब उक्त दुश्कृत्य की रिपोर्ट पुलिस में लिखाने बोला गया तो दोनों ने मिलकर मृतिका को मारने का प्लान बनाया और मृतिका को जबरदस्ती अपनी गाडी मे बीच में बैठाकर चक्की घाट के रास्ते से ट्रान्सपोर्ट नगर होते हुये इन्द्रानगर वाले रोड से उतरकर सुँघरहा शाहनगर वाली रास्ता निकल गये तथा सुँघरहा गाँव के आगे दाहिने तरफ कच्ची रास्ता से सूनसान जंगल तरफ रोड से करीब तीन सो

मीटर अन्दर ले गये वहां मृतिका को उतारकर जमीन में पटक दिये दोनो ने वहीं पडे पत्थरो से मृतिका के सिर व चेहरे पर पटक-पटक कर मृतिका की हत्या कर दिये। विकास ने आकाश बर्मन को गर्ग तिराहे के पास गली में छोड़कर अपने खेत जाकर दो बडी बडी बोरियाँ (झाल) ली और उन बोरी के अंदर धान का पैरा व रस्सी भरकर अपनी गाड़ी में रखरकर सुँघरहा जंगल गया तथा जहां मृतिका की लाश बोरी में भरकर गाड़ी में पीछे तरफ बाँधकर वापस इन्द्रानगर ओवरब्रिज होते हुए गुलवारा ओवर ब्रिज के पहले रोड किनारे बने सूखे नाले पर बोरी से बंधी मृतिका की लाश को फेंक दिया। दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर न्यायालय पेश किया जा रहा है।

खुलासे में इनकी रही सराहनीय भूमिका

इस खुलासे में थाना प्रभारी माधवनगर मनोज गुप्ता, चौकी प्रभारी झिंझरी उनि महेन्द्र जायसवाल, उनि कुलदीप सिंह,उनि अरुनपाल, उनि प्रतीक्षा चंदेल, सउनि संतोष सिंह, सउनि कप्तान सिंह, प्र.आर. नीलेश, आशीष, आर रवीन्द्र, मणी, नीरज, अभय, राजेन्द्र, भुवनेश्वर, चंद्रेश, कोतवाली से आर, अमित सिंह उपेन्द्र, अजय, विकास साइबर सेल के आर. प्रशांत की सराहनीय भूमिका रही

Back to top button