katniLatest

Katni: 10 लाख से अधिक राशि का मामला आयकर विभाग को सौंपा जायेगा

कटनी। विधानसभा निर्वाचन के दौरान अभ्यर्थियों के निर्वाचन व्ययों पर प्रभावी निगरानी के लिए कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी अवि प्रसाद की अध्यक्षता में अन्य एजेंसियों के साथ र्क्रास फंक्शनल प्रशिक्षण का आयोजन किया गया। इसमें पुलिस अधीक्षक अभिजीत कुमार रंजन, वन मंडल अधिकारी गौरव शर्मा मौजूद रहे।

प्रशिक्षण में आयकर, वन, वाणिज्यिक कर ,आबकारी विभाग के अधिकारी मौजूद रहे साथ ही व्ही.एस.टी, व्ही.व्ही.टी, एफ.एस.टी, एस.एस.टी में नियुक्त अधिकारी और कर्मचारियों की उपस्थिति रही।

प्रशिक्षण के दौरान बताया गया कि कोई अभ्यर्थी एक व्यक्ति या इकाई से दस हजार रूपये से अधिक नगद या ऋण अंशदान के रूप में प्राप्त नहीं करेगा। संपूर्ण प्रचार अवधि में एक व्यक्ति या हस्ती को दस हजार रूपये से अधिक नगद भुगतान नहीं करेगा।

बल्कि राशि का परिचालन बैंक खातों के माध्यम से किया जायेगा। बैठक में बताया गया कि सुप्रीम कोर्ट के निर्देशानुसार न तो कोई अभिकर्ता एवं उनके अनुयायी और न अभ्यर्थी स्वयं ही निर्वाचन प्रक्रिया के दौरान निर्वाचन क्षेत्र में 50 हजार रूपये से अधिक की नगद राशि ले सकता है।

प्रचार में प्रयुक्त वाहनों की आर.ओ से अनुमति प्राप्त करना होगा और अनुमति की मूल प्रति वाहन की विंडो स्क्रीन पर चस्पा की जायेगी। बिना अनुमति प्राप्त वाहनो को अनाधिकृत प्रचार वाहन माना जायेगा तथा आई पी.सी की धारा 171 ज के दण्डात्मक प्रावधानों के अंतर्गत कार्यवाही की जायेगी।

साथ ही इसे प्रचार अभियान से बाहर कर इसका व्यय छाया प्रेक्षक रजिस्टर मंे जोडा जायेगा। प्रशिक्षण में बताया गया कि यदि बैंकों से 10 लाख से ऊपर की नगदी निकासी का मामला सामने आता है तो जिला निर्वाचन अधिकारी ऐसे मामले के अन्वेषण हेतु आयकर विभाग के नोडल अधिकारी को भेजेंगे।

इसके अलावा मदिरा के भंडारण एवं अवैध वितरण को रोकने राजनैतिक विज्ञापनों के पूर्व प्रमाणन, निर्वाचन में धन बल के प्रयोग को रोकने हेतु आयोग द्वारा उठाये गये कदमों और आयकर विभाग द्वारा अनुवीक्षण एस.जी.एस.टी एवं सी.जी.एस.टी अधिकारियों की तैनाती वन विभाग की भूमिका नारकोटिक्स आदि विभागों के दायित्वों व क्रियाकलापों पर विस्तृत प्रकाश डाला गया।

बैठक में उप जिला निर्वाचन अधिकारी साधना परस्ते, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक मनोज केडिया, जिला सूचना अधिकारी प्रफुल्ल श्रीवास्तव, जिला कोषालय अधिकारी शैलेष गुप्ता, उपायुक्त नगर निगम पवन कुमार अहिरवार, निर्वाचन पर्यवेक्षक रवि बड़गैया सहित अन्य अधिकारी मौजूद रहे।

Back to top button