अंतराष्ट्रीय

Israel Hamas War: गाजा को लेकर प्रस्ताव यूएनएससी में पास, इस्राइल-हमास के बीच शत्रुता खत्म करने का आह्वान

Israel Hamas War: गाजा को लेकर प्रस्ताव यूएनएससी में पास, इस्राइल-हमास के बीच शत्रुता खत्म करने का आह्वान, संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (UNSC) ने शुक्रवार को एक प्रस्ताव अपनाया, जिसमें पूरे गाजा पट्टी में मानवीय सहायता की तत्काल और निर्बाध डिलीवरी और इस्राइल-हमास के बीच शत्रुता तत्काल खत्म करने का आह्वान शामिल है। संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) की ओर से पेश किए गए प्रस्ताव पर कई दिनों की देरी के बाद शुक्रवार को सुरक्षा परिषद में मतदान हुआ।

यूएनएससी के कुल 15 सदस्य देशों में से 13 ने प्रस्ताव के पक्ष में मतदान किया, जबकि अमेरिका और रूस ने मतदान से खुद को अलग रखा।

 

यूएई के प्रस्ताव में मांग की गई है कि संघर्ष में शामिल पक्ष पूरे गाजा पट्टी में फलस्तीनी नागरिकों तक सीधे मानवीय सहायता की तत्काल, सुरक्षित और निर्बाध डिलीवरी की अनुमति दें और इसके लिए सुविधा प्रदान करें। साथ ही मानवीय सहायता तक सुरक्षित पहुंच के लिए तत्काल कदम उठाने का आह्वान किया गया है। प्रस्ताव में इस्राइल-हमास के बीच संघर्ष की स्थायी समाप्ति के लिए माहौल तैयार करने का भी आह्वान किया गया है। प्रस्ताव में संघर्ष में शामिल पक्षों से सीमा पार सहित पूरे गाजा पट्टी के लिए सभी उपलब्ध मार्गों के उपयोग की अनुमति देने और सुविधा प्रदान करने की मांग की गई है।

इस्राइल ने नुसरत शिविर पर की बमबारी, 18 की मौत

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, इस्राइली सेना ने शुक्रवार की रात मध्य गाजा में स्थित नुसरत शिविर पर हमला किया, जिसमें 18 फलस्तीनी नागिरक मारे गए और दर्जनों लोग घायल भी हुए हैं। बताया जा रहा है कि जिस घर पर बमबारी की गई, उसमें कई विस्थापितों ने शरण ली थी।

दस हफ्तों में 20,000 से ज्यादा फलस्तीनियों की मौत

इस्राइल-हमास युद्ध में भुखमरी दूर करने के लिए संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में मानवीय सहायता बढ़ाने के प्रस्ताव पर मतदान से पहले इस्राइली बलों ने शुक्रवार को मध्य गाजा में नए हमले बढ़ा दिए। इस सप्ताह युद्धविराम पर मिस्र में जारी कोशिशों के बीच इस युद्ध में सात अक्तूबर से अब तक 20,000 से अधिक फलस्तीनियों की मौत हो चुकी है। शुक्रवार को यह आंकड़ा 20,057 दर्ज किया गया।

हमास शासित गाजा पट्टी में स्वास्थ्य अधिकारियों ने उक्त आंकड़ा जारी करते हुए कहा कि इस युद्ध में महज 10 हफ्तों से अधिक समय पहले शुरू हुई लड़ाई में गाजा के करीब 85 फीसदी से अधिक लोग विस्थापित हो गए और एक बड़ा हिस्सा तबाह हो गया है। मृतकों की यह संख्या क्षेत्र की युद्ध से पहले की आबादी का एक प्रतिशत है, जबकि घायलों की तादाद 53,320 है। इस्राइली सेना ने शुक्रवार को मध्य गाजा में अल-ब्यूरिज के निवासियों को तुरंत दक्षिण की ओर जाने का आदेश दिया, जो जमीनी हमले के एक नए फोकस का संकेत देता है जिसने पहले ही पट्टी के उत्तर को तबाह कर दिया है और दक्षिण में घुसपैठ की एक शृंखला बनाई है।

इस्राइली सेना अल-बलाद व अल-ब्यूरिज में घुसने को तैयार

शुक्रवार को लड़ाई में अल-ब्यूरिज के पूर्वी क्षेत्रों में इस्राइली टैंकों ने गोलाबारी की। उत्तरी गाजा में जबालिया अल-बलाद और जबालिया शरणार्थी शिविर पर गोलाबारी की गई। सेना क्षेत्र में अंदर घुसने की तैयारी कर रही है।

गाजा के लोगों को अस्थायी वीजा जारी करेगा कनाडा

कनाडा ने गाजा पट्टी के उन लोगों को अस्थायी वीजा देने की घोषणा की है जिनके रिश्तेदार कनाडा में रहते हैं। कनाडाई आव्रजन मंत्री मार्क मिलर ने कहा, यह अभियान नौ जनवरी तक शुरू हो सकता है। हालांकि उन्होंने यहां से नागरिकों की सुरक्षित निकासी का आश्वासन नहीं दिया। उन्होंने कहा, सरकार माता-पिता, दादा-दादी, भाई-बहन और पोते-पोतियों सहित कनाडा से जुड़े विस्तारित पारिवारिक संबंध वाले लोगों के लिए आवेदन स्वीकार करना शुरू करेगी।

Related Articles

Back to top button