Latest

इंडिगो ने देवघर के लिए शुरू की सेवा, शि‍व दर्शन कराएगी एयरलाइन

इंडिगो ने देवघर के लिए शुरू की सेवा, शि‍व दर्शन कराएगी एयरलाइन

इंडिगो ने देवघर के लिए शुरू की सेवा, शि‍व दर्शन कराएगी एयरलाइन। राम के बाद अब शिव के दर्शन भी श्रद्धालुओं को सस्ते में होने वाले है. दरअसल, इंडिगो एयरलाइन ने अयोध्या के बाद देवघर के लिए भी डायरेक्ट फ्लाइट सर्विस शुरू कर दी है. देवघर से रांची और पटना आने-जाने वाले यात्रियों की बढ़ती संख्या को देखते हुए यह निर्णय लिया गया है. आइए आपको फ्लाइट टाइमिंग की पूरी डिटेल देते हैं.

अयोध्या में राम मंदिर के दर्शन के बाद किफायती एयरलाइंस कंपनी इंडिगो ने क्षेत्रीय कनेक्टविटी को मजबूत करने के लिए झारखंड से देवघर के बीच हवाई यात्रा शुरू करने की घोषणा की है. इंडिगो की सर्विस शुरु होने के बाद यात्री आसानी से शिव के दर्शन कर सकेंगे. इंडिगो ने एक जून से झारखंड के देवघर और बेंगलुरु के बीच सीधी उड़ान शुरू करने की घोषणा की है. कंपनी ने एक बयान में बताया कि देवघर के लिए डायरेक्ट फ्लाइट सर्विस हफ्ते में तीन दिन मंगलवार, बृहस्पतिवार और शनिवार को होंगी. आइए आपको फ्लाइट की डिटेल से लेकर टाइमिंग की पूरी जानकारी देते हैं.

ये है टाइमटेबल

एयरलाइन ने बताया कि फ्लाइट नंबर ‘6ई 6435’ बेंगलुरु से सुबह 10.05 बजे उड़ान भरेगी और दोपहर 12.25 बजे देवघर पहुंचेगी. वापसी की उड़ान ‘6ई 6437’ दोपहर 12.55 बजे देवघर से रवाना होगी और 3.25 बजे बेंगलुरु में उतरेगी. इंडिगो ने बताया कि नया मार्ग भारत के दक्षिणी हिस्से से झारखंड के प्रसिद्ध धार्मिक केंद्रों तक कनेक्टिविटी बढ़ाएगा. देवघर से रांची और पटना आने-जाने वाले यात्रियों की बढ़ती संख्या को देखते हुए यह निर्णय लिया गया है. देवघर से रांची व पटना आने-जाने वालों में श्रद्धालु की संख्या अधिक होती है.

रोजगार चाहने वालों को भी सुविधा

एयरलाइन के बयान के मुताबिक, डायरेक्ट फ्लाइट सर्विस शुरू होने न केवल ग्राहकों को झारखंड के पवित्र शहर तक पहुंच मिलेगी, बल्कि छात्रों और रोजगार चाहने वालों को भी सुविधा होगी. देवघर धार्मिक और सांस्कृतिक महत्व का शहर है और यहां प्रसिद्ध बैद्यनाथ मंदिर है, जो भगवान शिव के बारह ज्योतिर्लिंगों में एक है.

24 घंटे के अंदर 50 फीसदी हो गई बुकिंग

एक जून से शुरू होने वाली देवघर- बेंगलुरु फ्लाइट की बुकिंग 24 घंटे के अंदर 50 फीसदी हो गई. 10 मई को शाम सात बजे टिकटों की बुकिंग शुरू हुई और 11 मई शाम सात बजे तक दोनों तरफ से 80 से अधिक टिकटों की बुकिंग हो चुकी है. एक जून को बेंगलुरु से देवघर और वापस देवघर से बेंगलुरु की पहली उड़ान में ही 50 फीसदी यात्रियों ने टिकटों की बुकिंग कराई है.

Back to top button