मध्यप्रदेश

FD से होने वाली कमाई पर लग सकता इतना Income Tax जान लें ये बात

अगर आप भी फिक्स्ड डिपॉजिट में निवेश करना चाहते हो तो ये  एक लोकप्रिय निवेश साधन बताया जा रहा है। जिसके निवेश में टैक्स के बाद का रिटर्न आमतौर पर बैंक द्वारा दिए जाने वाले ब्याज से कम किया बताया जाता है।अगर आपको टर्म डिपॉजिट पर 7 से 8 फीसदी की दर से ब्याज मिल रहा हो जिसका मतलब ये नहीं कि आपको टैक्स कटौतियों के बाद वही दर दी जाएगी। FD से होने वाली कमाई पर लग सकता इतना Income Tax जान लें ये बात।

TDS calculation

बता दे की अब उच्च टैक्स ब्रैकेट वाले व्यक्ति अपने आयकर रिटर्न को भी दाखिल करके टीडीएस वापस लेने का भी दावा नहीं करती। जिसके परिणामस्वरूप सावधि भी जमा करने के बाद मिलने वाला रिटर्न कम किया जाता है। साथ ही ये एक मिडिया रिपोर्ट के मुताबित  एसबीआई, पीएनबी, एचडीएफसी बैंक और आईसीआईसीआई बैंजैसे बैंकों में 6 मंथ की जमा राशि के लिए औसत ब्याज दर लगभग 5% बताया जा रहा है।

मात्र 2 लाख में होने जा रही लॉन्च Maruti Baleno की कार धांसू फीचर्स के साथ

 बैंक एफडी का कोई आप्सन 

म्युचुअल फंड जैसे मार्केटों से जुड़े उत्पादों के साथ निवेश पोर्टफोलियो में विविधता लाने का सुझाव देते हुए क्योंकि ऐसी योजनाओं से आम तौर पर दीर्घकालिक रिटर्न भी दिया जाता है। जिसके निवेशकों को अपने निवेश पोर्टफोलियो के एक हिस्से को मार्केट से जुड़े उत्पादों जैसे म्यूचुअल फंड में शानदार रिटर्न के लिए शिफ्ट करना अनिवार्य बताया जा रहा है।FD से होने वाली कमाई पर लग सकता इतना Income Tax जान लें ये बात।

Bijli Bill Mafi New List 2024 मोदी सरकार का बड़ा ऐलान सभी लोगों का होगा बिजली बिल माफ लिस्ट में चेक करे नाम

mutual fund par kitna tax

जानकारी के मुताबित अब ये म्यूचुअल फंड की आय की ऐसी योजनाओं से आमतौर पर लंबी अवधि में उच्च रिटर्न भी दिया जाता है। जिसमे आय में जो भी कमी होती उस अपर अधिक प्रभाव नहीं पड़ता दिखाई दे रहा है।

FD के फायदे

जिसके बावजूद, फिक्स्ड डिपॉजिट के लाभ खासकर उन निवेशकों के लिए जिनके पास आय का कोई स्रोत नहीं हो या सीमित आय और जो पुराने और नए कर व्यवस्था के और बुनियादी छूट की भी सीमा से कम कमाते हैं। साथ ही कुछ बैंकों ने सावधि जमा ब्याज दरों में वृद्धि भी कराई गयी है।

Back to top button