Latest

16 अप्रेल को आचार्य पद पदारोपण महामहोत्सव: आचार्य श्री शिष्यों का आगमन

16 अप्रेल को आचार्य पद पदारोपण महामहोत्सव: आचार्य श्री शिष्यों का आगमन

कटनी। परम पूज्य संत शिरोमणि आचार्य श्री विद्यासागर जी महाराज की परंपरा को आगे बढ़ाने के लिये श्री दिगंबर जैन सिद्धक्षेत्र कुण्डपुर में आगामी 16 अप्रेल को आचार्य पद पदारोपण महामहोत्सव को लेकर लगातार ही आचार्य श्री शिष्यों का आगमन हो रहा है।

संघपति समाज सेवी शरद सरावगी ने बतलाया कि सोमवार को कुण्डलपुर मे सम्मेद शिखर जी स्थित गुणयातन तीर्थ प्रणेता पूज्य मुनि श्री प्रमाण सागर जी महाराज एवं अर्हम योग प्रणेता पूज्य मुनि श्री प्रणम्य सागरज जी महाराज की भव्य आगवानी की गई। मुनि श्री प्रमाण सागर जी श्री सम्मेद शिखर जी से विहार करते हुये लगभग 1000 किमी की लंबी पद यात्रा के बाद कुण्डलपुर पहुंचे है। इस अवसर पर गाजे-बाजे के साथ उनकी भव्य अगवानी की गई। क्षेत्र कमेटी द्वारा अगवानी की व्यवस्थायें की गई थी। दिव्यघोष के माध्यम से मुनि संघ को मंच तक लाया गया ।

जहां पर कुंडलपुर में पूर्व से विराजित निर्यापक मुनि श्री प्रसाद सागर जी, निर्यापक मुनि श्री अभय सागर जी, श्री निर्यापक मुनि श्री संभव सागर जी, मुनि श्री प्रभात सागर जी, मुनि श्री चंन्द्र सागर जी, मुनि श्री आनंद सागर जी, मुनि श्री निर्णय सागर जी, मुनि श्री अजित सागर जी, मुनि श्री विनम्र सागर जी,मुनि श्री विराट सागर जी मुनि श्री विशाद सागर जी ससंघ,आर्यिका रत्न तपोमती माता जी संघ, आर्यिका रत्न ़ऋतुमती माता जी ससंघ आर्यिका रत्न चिंतनमति माता जी, ससंघ आर्यिकारत्न श्री सोम्यमती माता जी, संघ आदि का मंगल मिलन हुआ ।

इस अवसर पर कुंडलपुर क्षेत्र कमेटी के पदाधिकारी सदस्य, महोत्सव समिति प्रभारी सदस्य बड़ी संख्या में उपस्थित भक्तगण, ब्रम्हचारी भैया जी, दीदी जी ,कुंडलपुर जैन समाज, कुंडलपुर स्टाफ आदि की उपस्थिति रही। इस अवसर पर कटनी नगर के सकल जैन समाज के सैकड़ों जैन धर्मलम्बियों ने बड़े बाबा एवं मुनि संघ एवं आर्यिका संघ के अगवानी कर दर्शन लाभ लिया।

Back to top button