Health

कैसे पता लगाएं कि आपके शरीर को फास्टिंग की आवश्यकता है

कैसे पता लगाएं कि आपके शरीर को फास्टिंग की आवश्यकता है

ओवरइटिंग करने से शरीर में कुछ ऐसे परिवर्तन नज़र आते हैं, जो फास्टिंग का संकेत (signs of fasting) देने लगते हैं।

बार बार एसिडिटी की समस्या, बर्पिंग, ब्लोटिंग और पेट में उठने वाला दर्द फास्टिंग की ओर इशारा करते हैं। एक्सपर्ट के अनुसार व्यक्ति को हर 10 दिन में 1 बार डाइजेशन को इंप्रूव करने के लिए फास्टिंग करनी चाहिए। इसके अलावा आहार में प्रोटीन, वेजिटेबल और फ्रूट शामिल करने चाहिए

यह भी पढ़े :- चावल एक पौष्टिक सुपरफूड है, लेकिन इन 3 स्थितियों में अच्छा नहीं है ज्यादा चावल खाना, आओ जानते है इसके बारे में

इन संकेतों से पहचानें की आपका शरीर है फास्टिग के लिए तैयार

1. ब्लोटिंग (Bloating)

ज्यादा मात्रा में स्पाइसी खाना खाने से पेट फूलने लगता है और पेट में बैक्टीरियल ग्रोथ की समस्या बढ़ जाती है। इसके चलते पेट में हल्का दर्द, खट्टे डकार और ब्लेटिंग का सामना करना पड़ता है। ऐसे में फास्टिंग से डाइजेशन इंप्रूव होने लगता है।

कैसे पता लगाएं कि आपके शरीर को फास्टिंग की आवश्यकता है

2 एसिडिटी (Acidity)

पेट में अतिरिक्त एसिड बनने से सीने में जलन बढ़ने लगती है। काफी देर तक बनी रहने वाली इस समस्या के चलते खाना निगलने में कठिनाई आती है। इससे अपच का सामना करना पड़ता है और मुंह के स्वाद में भी बदलाव आने लगता है।फास्टिंग के लिए किन टिप्स को फॉलो करें (tips for fasting in hindi)

यह भी पढ़े :-  दिनचर्या में शामिल करे स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज, दूर होगी मॉर्निंग लेजीनेस और स्टिफनेस

मील्स लेने के लिए उनके भीतर 6 घंटे का गैप ज़रूर मेंटेन करें। इससे डाइजेशन इंप्रूव होने लगता है और खाना आसानी से पच सकता है।
अगर आप दिनभर फास्टिंग नहीं कर सकते हैं, तो रात में सीरियल्स की जगह केवल फ्रूटस, सूप या सैलेड ले सकते हैं।
10 दिनों में एक बार फास्टिंग अवश्य करें। इससे शरीर में मौजूद टॉक्सिक पदार्थों को डिटॉक्स करने में मदद मिलती है।
दिन में केवल दो मील्स में ही सीरियल्स को शामिल करना चाहिए। इससे वेटगेन की समस्या से बचने में मदद मिलती है।
बाहर का खाना खाने के बाद अगले दिन फास्टिंग पर अवश्य जाएं और फास्टिंग के दौरान केवल लिक्विड डाइट ही लें।

Back to top button