फिटनेस फंडा

Healthy Tips: बार-बार आने लगी है हिचकी और पानी पीकर भी नहीं आ रहा आराम, तो ये 4 नुस्खे आएंगे आपके काम…

Healthy Tips नमस्कार दोस्तो स्वागत है आपका हमारे एक और न्यू आर्टिकल मे तो चलिए शुरू करते है

Healthy Tips: डायफ्राम में घर्षण होने पर हिचकी आना शुरू हो जाती है. हिचकी एक बार आना शुरू होती है तो लगातार आती जाती है और बंद होने का नाम नहीं लेती. ऐसे में हिचकी (Hiccups) कई देर तक आती रहे तो गले में दर्द होने लगता है, व्यक्ति का ठीक से उठना-बैठना मुश्किल हो जाता है और कई बार तो सिर तक दर्द करने लगता है. तनाव लेने, खाना निगलने, एकसाथ बहुत ज्यादा खा लेने पर, पेट फूलने पर, एल्कोहल के सेवन से, कुछ तीखा या चटपटा खाने पर, घबराहट होने पर, नर्वस होने पर, मेटाबॉलिक डिसोर्डर, एक्साइटेड होने पर और कार्बोनेटेड ड्रिंक्स पीने पर भी हिचकी आने लगती है. ऐसे में हिचकी भगाने का सभी को एक ही तरीका सूझता है जो है पानी पीना. लेकिन, पानी पीते रहने से भी जरूरी नहीं है कि हिचकी चली ही जाए और कई बार पानी (Water) का हिचकी रोकने में कुछ खासा असर भी नहीं दिखता है. ऐसे में यहां जानिए उन घरेलू नुस्खों के बारे में जो हिचकी से छुटकारा दिलाने में कारगर होते हैं.

हिचकी दूर करने के घरेलू उपाय | Home Remedies To Get Rid Of Hiccups
खाएं चीनी एक चम्मच चीनी (Sugar) खाने पर हिचकी से राहत मिल सकती है. इसके लिए एक एक चम्मच चीनी लें और उसे जीभ पर रख लें. इसके अलावा चीनी को निगला भी जा सकता है. कहते हैं ऐसा करने पर गले की नर्व्स स्टिम्यूलेट होती हैं जिससे हिचकी बंद होने में असर दिखता है.

Healthy Tips: नींबू चूसना
नींबू या सिरके का स्वाद खट्टा और कड़वा जरूर होता है लेकिन इससे हिचकी की दिक्कत से छुटकारा मिल सकता है. मुंह में नींबू का रस (Lemon Juice) रखें, एक से चार तक गिनती करें और फिर इस रस को निगल लें. इसे हिचकी का अच्छा घरेलू उपाय माना जाता है.

READ MORE : http://इन 8 vegetables को हमेशा उबालकर ही खाना चाहिए, वर्ना नष्ट हो जाते हैं सभी पोषक तत्व, जानिए list….

Healthy Tips: पानी से गरारे करना
हिचकी दूर करने के लिए पानी पीने के अलावा पानी से गरारा किया जा सकता है. पानी से गरारे करने पर गले के पिछले हिस्से की नर्व्स स्टिम्यूलेट होती हैं जिससे हिचकी से निजात मिल जाती है. चाहे तो बर्फ के टुकड़े भी कुछ देर मुंह में रखे जा सकते हैं.

धीमी सांस लेना
जब व्यक्ति धीमी सांस लेता है तो डायफ्राम को रिलैक्स महसूस होने लगता है. गहरी सांस लें और 4 से 5 सैकंड तक सांस रोके रखने के बाद धीरे-धीरे सांस छोड़ें. कुछ देर तक ऐसा करने पर हिचकी की दिक्कत दूर हो जाती है और आराम महसूस होता है.

Back to top button