Latestमध्यप्रदेश

Fastag की हुई छूट्टी अब नए तरीके से Toll Tex कटेगा जानिए

Fastag की हुई छूट्टी अब नए तरीके से Toll Tex कटेगा जानिए आपको टोल टैक्स का भुगतान करने के लिए fatsag का इस्तेमाल करना पड़ता है पर हाल ही में देश के केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी (nitin gadkari news) ने जानकारी देते हुए बताया कि, सरकार ने नेशनल हाइवेज पर GPS बेस्ड टोल कलेक्शन सिस्टम को लागू करने के लिए एक कंसल्टेंट की नियुक्त की है।भारत सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी (nitin gadkari news) ने, यह भी कहा कि इस सिस्टम को FASTags के अलावा पायलट बेस पर पेश किया जाएगा।

लोकसभा में एक लिखित सवाल के जबाव में उन्होंने बताया कि, शुरुआत में नेशनल हाइवे पर कुछ चुनिंदा जगहों पर GNSS-बेस्ड इलेक्ट्रॉनिक टोल कलेक्शन (ETC) सिस्टम लागू करने का फैसला लिया गया है, जिसके लिए एक सलाहकार की नियुक्त भी की गयी है।

KYC Fastag

भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण यानि NHAI बिना KYC वाले फास्टैग यूजर्स को RBI की गाइडलाइन के अनुसार, KYC प्रक्रिया को पूरा करने के लिए प्रोत्साहित कर रहा है. केंद्रीय मंत्री के अनुसार, NHAI की इस पहल का मकसद टोल प्लाजा पर सड़क पर यात्रा कर रहे लोगों को परेशानी से बचने के लिए, फास्टैग सिस्टम को 100 फीसद KYC के अनुरूप बनाना है।

यह भी पढ़े : Bihar News विधानसभा की कार्यवाही शुरू, अबतक नहीं पहुंचे इन विधायकों ने बढ़ाई दोनों पक्षों की टेंशन

इन गाड़ियों पे नहीं लगेगा Fastag

भारत के राष्ट्रपति, भारत के उपराष्ट्रपति, भारत के प्रधानमंत्री, किसी भी राज्य के राज्यपाल, भारत के चीफ जस्टिस, लोक सभा अध्यक्ष, कैबिनेट मंत्री, किसी राज्य के मुख्यमंत्री, सुप्रीम कोर्ट जज, संघ के राज्य मंत्री, केंद्र शासित प्रदेश के लेफ्टिनेंट गवर्नर, पूर्ण सामान्य या समकक्ष रैंक के रैंक वाले चीफ ऑफ स्टाफ, किसी राज्य की विधान परिषद के सभापति, किसी राज्य की विधान सभा के अध्यक्ष, हाई कोर्ट चीफ जस्टिस, हाई कोर्ट जज, सांसद, थल सेनाध्यक्ष के सेना कमांडर और अन्य सेवाओं में समकक्ष, राज्य सरकार के मुख्य सचिव, भारत सरकार के सचिव, सचिव, राज्यों की परिषद, लोक सभा, सचिव की गाड़ियां शामिल हैं।

यह भी पढ़े :  Hero Splendor 2024 नये लुक Sports Edition के साथ मार्केट मे गर्दा मचाने आ रही है धाकड़ फीचर्स और माइलेज के साथ

Fastag पर जाम नहीं लगेगा

टोल प्लाजाओं पर लगने वाला जाम भी था, जिसके चलते गाड़ियों घंटों का जाम में फसे रहना पड़ता था. लेकिन फास्टैग के जरिये टोल कलेक्शन सिस्टम आने से इसमें जबरदस्त बदलाव आया. अब टोल प्लाजा पर लगने वाले समय में काफी कमी आयी है।

यह भी पढ़े : Tata को मार्केट उड़ने आ गयी Maruti की लक्ज़री SUV,प्रीमियम फीचर्स के साथ ब्रांडेड इंजन , जाने माइलेज और कीमत

Back to top button