FEATUREDLatestमध्यप्रदेश

Cheetah दक्षिण अफ्रीका से लाई गई चीता गामिनी ने जन्मे पांच शावक, कूनो में अब 13 शावक

Cheetah दक्षिण अफ्रीका से लाई गई चीता गामिनी ने जन्मे पांच शावक, कूनो में अब 13 शावक

Cheetah मध्य प्रदेश के कूनो नेशनल पार्क से फिर खुशखबरी आई है। यहां चीतों का कुनबा और बढ़ गया है। अब चीता गामिनी ने पांच शावकों को जन्म दिया है। 18 फरवरी 2023 को दक्षिण अफ्रीका से लाए गए 12 चीतों में से गामिनी पहली मादा है, जिसने भारत की धरती पर शावकों को जन्म दिया है।

भारतीय धरती पर चौथा चीता वंश

केंद्रीय मंत्री भूपेंद्र सिंह ने x पर लिखा कि हाई फाइव, कुनो! दक्षिण अफ्रीका के त्वालु कालाहारी रिजर्व से लाई गई मादा चीता गामिनी, उम्र लगभग 5 वर्ष, ने आज 5 शावकों को जन्म दिया है। इससे भारत में जन्मे शावकों की संख्या 13 हो गई है। यह भारतीय धरती पर चौथा चीता वंश है और दक्षिण अफ्रीका से लाया गया चीता का पहला वंश है। सभी को बधाई, विशेषकर वन अधिकारियों, पशुचिकित्सकों और फील्ड स्टाफ की टीम को, जिन्होंने चीतों के लिए तनाव मुक्त वातावरण सुनिश्चित किया है। कूनो राष्ट्रीय उद्यान में शावकों सहित चीतों की कुल संख्या 26 है।

चीता पुनर्स्थापना प्रोजेक्ट

चीता पुनर्स्थापना प्रोजेक्ट के तहत 17 सितंबर 2022 को नामीबिया से आठ चीतों को लाकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने श्योपुर के कूनो नेशनल पार्क में छोड़ा था। इनमें से ज्वाला चीता ने मार्च 2023 में चार शावकों को जन्म देकर बड़ी खुशखबरी दी थी, हालांकि भीषण गर्मी और कमजोरी के चलते इनमें से तीन शावकों की मौत हो गई थी। जबकि एक शावक पूरी तरह स्वस्थ है और एक साल का होने वाला है।

इससे पहले नामीबिया से लाई गई ज्वाला ने दो बार और आशा ने एक बार शावकों का जन्म दिया था। अब कूनो में कुल 13 चीता शावक और 13 वयस्क चीता हो गए हैं।

Back to top button