Latestराष्ट्रीय

Bihar Breaking 28 जनवरी को बिहार में बनेगी NDA सरकार! एक और बड़े में राज्य भगवा

Breaking 28 जनवरी को बिहार में बनेगी NDA सरकार! एक और बड़े राज्य में भगवा

Bihar Breaking 28 जनवरी को बिहार में बनेगी NDA सरकार बनना लगभग तय है। बिहार में जल्द ही सत्ता परिवर्तन हो सकता है। नीतीश कुमार एक बार फिर से NDA में वापसी करके नई सरकार बना सकते हैं।

जानकारी के अनुसार, CM नीतीश आज शाम को राज्यपाल के साथ मुलाकात कर सकते हैं. इसके बाद वो 28 जनवरी को शपथ भी ले सकते हैं. बता दें कि इससे पहले जानकारी सामने आई थी कि JDU और BJP के बीच सरकार बनाने को लेकर फ़ॉर्मूला बन गया है. इसमें  नीतीश कुमार ही बिहार के मुख्यमंत्री बने रहेंगे, जबकि भाजपा कोटे से दो उपमुख्यमंत्री होंगे. सुशील मोदी डिप्टी सीएम बन सकते हैं और एक नाम पर अब तक चर्चा बाकी है।

बिहार की राजनीति  में इन दिनों घमासान मचा हुआ है. इंडिया गठबंधन की पहल करने वाले सीएम नीतीश कुमार (Nitish Kumar) की पार्टी जेडीयू ही इसका हिस्सा रहेगी या  या नहीं, इसपर लगातार संशय के बादल गहरा हुए हैं. वहीं  तरफ सवाल ये भी है कि क्या बिहार महागठबंधन की सरकार रहेगी या फिर नीतीश कुमार फिर बीजेपी के साथ मिलकर सरकार बनाएंगे. बिहार की राजनीति के लिए अगले कुछ घंटे काफी अहम हैं।

बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने दिया बड़ा बयान

बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने कहा, “हाल ही में मैंने कहा था कि 20 जनवरी के बाद बिहार में कुछ न कुछ परिवर्तन होगा. पिछले दिनों नीतीश कुमार ने राजद के खिलाफ बहुत सारी बातें कही थी…अब इन लोगों का गठबंधन नहीं चलेगा…: , इससे पहले उन्होंने अपने बयान में कहा था कि खेला आज ही होगा.मांझी ने कहा, ‘हमने जो कहा था वैसा ही लगभग हो रहा है. हम नीतीश कुमार को जानते हैं, राजनीति में जो रहते हैं वह दिन और मुहूर्त देखकर कुछ भी करते हैं. नीतीश कुमार भी यह सब मान कर चलते हैं. लालू यादव से नीतीश कुमार का मोह भंग हो गया था. खेला होना चाहिए और हमारा कैलकुलेशन सही है. नीतीश कुमार की प्रधानमंत्री से डायरेक्ट बात हो रहा है, ये गलत है. आज नीतीश कुमार ने अपने सभी विधायक को शाम तक बुलाया है’. क्या आज ही खेला हो जाएगा के सवाल पर उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार,  मुख्यमंत्री पद के इतना ज्यादा इच्छुक हैं कि वो किसी भी परिस्थिति में मुख्यमंत्री पद से समझौता नहीं करेंगे. हालांकि ये बिहार की राजनीति है और इसमें कुछ भी हो सकता है।

Back to top button