Uddhav Thackeray Resigned: उद्धव ठाकरे ने किया सीएम पद से इस्तीफा देने का एलान, कहा- हमसे कोई शिवसेना छीन नहीं सकता

Advertisements

Uddhav Thackeray Resigned सुप्रीम कोर्ट द्वारा महाराष्ट्र के राज्यपाल का बहुमत परीक्षण का फैसला बरकरार रखने के साथ ही उद्धव ठाकरे ने सीएम पद से इस्तीफा देने का एलान कर दिया। इसके साथ ही उन्होंने विधान परिषद की सदस्यता भी छोड़ने की घोषणा की। फेसबुक के जरिए दिए संबोधन में उद्धव का दर्द साफ नजर आया। उन्होंने कहा कि जिन्हें कुछ भी नहीं दिया, उन्होंने साथ दिया। कांग्रेस-एनसीपी ने हमारा साथ दिया, लेकिन जिनको मैंने दिया, वो नाराज हैं।

क्या-क्या कहा उद्धव ने पढ़ें
मैं संतुष्ट हूं कि हमने आधिकारिक तौर पर औरंगाबाद का नाम संभाजी नगर और उस्मानाबाद का नाम धाराशिव कर दिया है। ये बालासाहेब ठाकरे द्वारा नामित शहर हैं।
हमने किसानों का कर्ज माफ किया है। जिन्हें कुछ भी नहीं दिया, उन्होंने साथ दिया। जिनको मैंने दिया, वो नाराज हैं। कांग्रेस-एनसीपी ने हमारा साथ दिया।
मैं एनसीपी और कांग्रेस के लोगों का आभार व्यक्त करना चाहता हूं कि उन्होंने मेरा समर्थन किया। शिवसेना, अनिल परब, सुभाष देसाई और आदित्य ठाकरे की तरफ से ये लोग तब मौजूद थे जब प्रस्ताव पास हुआ था, जबकि एनसीपी और कांग्रेस के लोगों ने भी प्रस्ताव का समर्थन किया।

आपकी नाराजगी किस बात की है, गुवाहाटी और सूरत जाने की बजाए मुझे बताएं। मैंने हमेशा आपकी भावनाओं का सम्मान किया है। मैं मीडिया में बात करूंगा और आप उसका जवाब देंगे, इसका क्या मतलब है।  मुझे पता लगा है कि मुंबई में बंदोबस्त करने के लिए केंद्र ने सुरक्षाकर्मी भेजे हैं। मैं नहीं चाहता कि शिवसैनिकों का खूब बहे, नहीं चाहता कि शिवसैनिक सड़कों पर उतरें।

किसके पास कितनी संख्या मुझे इससे मतलब नहीं, कल शायद वो बहुमत साबित कर दें। मुझे सीएम पद छोड़ने का कोई दुख नहीं।
मैं अप्रत्याशित तरीके से (सत्ता में) आया था और मैं इसी तरह से बाहर जा रहा हूं। मैं हमेशा के लिए नहीं जा रहा हूं, मैं यहां रहूंगा, और मैं एक बार फिर शिवसेना भवन में बैठूंगा। मैं अपने सभी लोगों को इकट्ठा करूंगा। मैं सीएम और एमएलसी पद से इस्तीफा दे रहा हूं। मैं वहां पर गया जहां मुझे जाना नहीं था।

शीर्ष अदालत ने बहुमत परीक्षण को हरी झंडी दी
इससे पहले आज अदालत ने आदेश सुनाते हुए कहा कि हम कल के फ्लोर टेस्ट को नहीं नहीं रोक रहे हैं। राज्यपाल द्वारा दिया गया बहुमत परीक्षण का आदेश जारी रहेगा। इस आदेश के बाद सीएम उद्धव ठाकरे के बहुमत परीक्षण से पहले ही इस्तीफा देने के कयास लग रहे थे।

अदालत के आदेश के साथ ही एमवीए सरकार की विदाई तय हो गई थी। सीएम उद्धव ठाकरे इसे लेकर फेसबुक लाइव के जरिए सामने आए और अपनी बात लोगों के सामने रखी। इससे पहले उन्होंने आज कैबिनेट बैठक कर सहयोगियों का आभार जताया था। इसके बाद से ही उनके इस्तीफा देने की संभावना जताई जाने लगी थी।

Advertisements