Katni Crime News: प्रेमप्रसंग को लेकर की गई रूपा की हत्या

Advertisements

Katni Crime Newsकटनी। कुठला थाना क्षेत्र की बिलहरी पुलिस चौकी के अंतर्गत ग्राम सगौड़ी निवासी एक 26 वर्षीय युवती का रीठी थाना अंतर्गत कटनी-बीना रेलखंड के सिमरा रेल फाटक के समीप क्षत विक्षत शव संदिग्ध परिस्थितियों में बरामद होने के मामले में पीएम रिपोर्ट आने के बाद पुलिस ने न केवल अज्ञात आरोपी के विरूद्ध हत्या का मामला दर्ज कर लिया है बल्कि वारदात को अंजाम देने वाले आरोपी को भी गिरफ्तार कर लिया है।

 

रीठी पुलिस ने सुलझाई वारदात, आरोपी गिरफ्तार

रेलट्रैक पर युवती का क्षत-विक्षत शव मिलने का मामला

पुलिस के मुताबिक युवती की हत्या प्रेमप्रसंग को लेकर की गई है। गौरतलब है कि ग्राम सगौड़ी निवासी 26 वर्षीय रूपा सिंह पिता भूपेन्द्र सिंह शहर के आजाद चौक स्थित एक प्रतिष्ठान में कम्प्यूटर ऑपरेटर का काम करती थी।

 

गांव से ही रोजाना अप-डाऊन करती थी। बताया जाता है कि शुक्रवार को वह काम पर न आकर बैंक के काम से शहर आई लेकिन इसके बाद घर नहीं पहुंची। परिजनों ने रात 12 बजे तक तलाश की लेकिन कोई पता नहीं चला।

रूपा का दोपहर दो बजे से ही फोन बंद हो गया था। इसके बाद संदिग्धावस्था में उसका क्षत विक्षत शव कटनी-बीना रेलखंड के सिमरा रेल फाटक के पास पड़ा मिला।

बताया जाता है कि युवती जिस बैग को लेकर काम करने शहर आती थी वह रेल लाइन के पास पड़ा मिला।

जिसमें मिले दस्तावेज के आधार पर उसकी शिनाख्त हुई। रीठी पुलिस ने युवती का पीएम कराते हुए मर्ग कायम कर मामले की जांच शुरू की और पीएम रिपोर्ट आने के बाद हत्या का मामला दर्ज करते हुए

आरोपी को भी गिरफ्तार कर लिया। उल्लेखनीय है कि रूपा की लाश मिलने के बाद से ही मामले में परिजनों ने हत्या का आरोप लगाया था तथा आक्रोशित परिजनों, करणी सेना सहित अन्य संगठन से जुड़े लोग रविवार को एसपी कार्यालय पहुंचकर हत्या का आरोप लगाए हुए आरोपियों पर कड़ी कार्रवाई की मांग की थी।

संदेही युवक ही निकला आरोपी

यहां यह भी उल्लेखनी है कि रूपा की हत्या के मामले में मृतिका के भाई आकाश ने बिलहरी निवासी हरीश बर्मन नामक युवक पर संदेह व्यक्त किया था। भाई ने पुलिस को दिए बयान में यह बताया था कि हरीश बर्मन नामक युवक का फोन उसके पास आया था।

उसी नंबर से फोन बहन के फोन में भी गया था। भाई आकाश का आरोप था कि बिलहरी के हरीश बर्मन ने ही मर्डर किया है।

लोकेशन लेने के लिए मुझे फोन लगाया गया था। पुलिस ने भाई ने बयान के आधार पर संदेही युवक हरीश बर्मन को हिरासत में लेकर पूछताछ की। जिसने अपना जुर्म स्वीकार कर लिया।

Advertisements