Lokayukta Raid: ट्रांसफार्मर बदलने के लिए JE ने मांगे 40 हजार, लोकायुक्त ने रंगे हाथ किया गिरफ्तार

Advertisements

Lokayukta Raid उमरिया। ग्रामीण क्षेत्र मुंगवानी के मदाइन टोला का ट्रांसफार्मर बदलने के लिए जूनियर इंजीनियर ने ग्रामीणों से 40 हजार की मांग की। एक ग्रामीण ने इसकी शिकायत लोकायुक्त से कर दी और 40 हजार की रिश्वत लेते हुए लोकायुक्त ने जूनियर इंजीनियर को रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया। यह यह कार्रवाई लोकायुक्त ने गुरुवार को उमरिया जिले के इंदवार में की है।

रंगे हाथ गिरफ्तार: इस बारे में जानकारी देते हुए लोकायुक्त एसपी गोपाल धाकड़ ने बताया कि एमपीईबी के जूनियर इंजीनियर कमलेश प्रसाद त्रिपाठी को 40 हजार रुपये के साथ गिरफ्तार किया गया है। एसपी गोपाल धाकड़ ने बताया कि शिकायतकर्ता विनीत कुशवाहा पुत्र रामदीन कुशवाहा उम्र 38 वर्ष निवासी मदाइन टोला (मुगवानी) पोस्ट टिकुरी थाना इंदवार जिला उमरिया मध्य प्रदेश ने जूनियर इंजीनियर के खिलाफ शिकायत की थी। विनीत कुशवाहा ने आरोप लगाया था कि कमलेश कुमार त्रिपाठी पिता शिवप्रसाद त्रिपाठी उम्र 55 वर्ष कनिष्ठ यंत्री मध्य प्रदेश पूर्व क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी लिमिटेड भरेवा जिला उमरिया नेट ट्रांसफार्मर बदलने के लिए 40000 रुपये की मांग की है।

 

Lokayukta Raid जूनियर इंजीनियर ने ग्रामीणों से 40 हजार की मांग

 

घर पर की कार्रवाई: शिकायत की पुष्टि के बाद गुरुवार को फरियादी विनीत कुशवाहा 40 हजार रुपये लेकर इंदवार जिला उमरिया स्थित आरोपित के किराए के मकान पर गया और वहां उसे पैसे दे दिए। इसके बाद लोकायुक्त की टीम ने मौके पर पहुंच कर दिए गए पैसे बरामद कर लिए और आरोपित को गिरफ्तार कर लिया। कार्रवाई के दौरान उप पुलिस अधीक्षक प्रवीण सिंह परिहार, निरीक्षक प्रमेंद्र कुमार एवं 12 सदस्यीय टीम में शामिल थे।

बिना पैसे कोई काम नहीं: ग्रामीणों से पैसों की मांग का यह पहला मामला नहीं है। पहले भी ग्रामीणों को पैसों के लिए परेशान किया जा चुका है। यहां तक कि ग्रामीणों के खिलाफ अधिकारियों की झूठी शिकायत पर पुलिस ने मामले भी दर्ज किए हैं। दरअसल पैसों के लेनदेन का यह सारा खेल जिला मुख्यालय के अधिकारियों तक खेला जा रहा है। जिला मुख्यालय के अधिकारियों के इशारे पर ही ग्रामीण क्षेत्र में हर बात के लिए रेट तय किए गए हैं। उसी का परिणाम है यह कार्रवाई।

Advertisements