Crime Branch Indore Raid: इंदौर क्राइम ब्रांच ने पकड़ा पिस्टलों का बड़ा जखिरा, 55 देशी कट्टे व पिस्टल जप्त

Advertisements

Crime Branch Indore Raid इंदौर। इंदौर क्राइम ब्रांच ने आगामी ग्राम पंचायत चुनाव से पहले प्रदेश में अवैध हथियारों का बड़ा जखिरा पकड़ा है। पुलिस ने सिकलीगरों से 55 देशी कट्टे व पिस्टल के साथ ही 11 जिंदा कारतूस जप्त किए हैं। साथ ही इनकी तस्करी करने वाले खरगोन व देवास से तीन तस्करों को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार किए गए सिकलीगर आधुनिक व उन्नत देशी कट्टे व पिस्टल बनाते हैं। पुलिस ने खरगोन के सिंगनूर गांव के जंगल से औजार, सांचे व औजार बनाने की अन्य वस्तुएं बरामद की हैं।

पुलिस कमिश्रर हरिनारायणा चारी मिश्र ने बताया कि क्राइम ब्रांच को मुखबिर के माध्यम से पता चला कि खरगोन जिले के ग्राम सिगनूर का रहने वाला आरोपी (सिकलीगर) जलसिंह पिता संतोष सिंह छाबड़ा उम्र 55 साल नि. ग्राम सिगनूर थाना गोगावां जिला खरगोन स्वयं हथियार बनाकर इंदौर शहर में सप्लाई करने आता रहता है सूचना पर कार्यवाही करते हुए अपराध शाखा की टीम द्वारा आरोपी को हथियारों की सप्लाई के लिए आते हुए देवगुराड़िया बायपास पर पुल के किनारे खड़े हुए पकड़ा। इसके कब्जे से 10 देशी पिस्टल, 04 नग देशी कट्टे एवं 04 जिन्दा कारतूस बरामद हुए।

इसे भी पढ़ें-  कटनी कोरोना अपडेट: आज मिले 39 पॉजिटिव केस, रविवार को 326 लोगों के लिए गए थे सेम्पल

 

पुलिस ने जब इससे पूछताछ की तो उसने बताया कि यह सामान हीरापुर उदयनगर, देवास के शंकर पिता सीताराम निगम और संतोष पिता शंकर को देता था। यह दोनों सिगनूर के जंगलों में अवैध रूप से हथियार भी बनाते थे। पुलिस ने आरोपित सिकलीगर की निशादेही पर हथियार बनाने का सामान और बनाए गए देशीकट्टा व पिस्टल सिंगनूर के जंगलों में जप्त की गई। गिरफ्तार आरोपितों पूछताछ की गई और सिकलीगर द्वारा पूर्व में दिए गए देशी कट्टे व पिस्टल बरामद किए गए। इस प्रकार क्राइम ब्रांच द्वारा एक सिकलीगर व दो हथियार सप्लायर गिरफ्तार किए गए व इस आरोपियों से कुल 55 अवैध हथियार जिनमें 41 देसी बत्तीस बोर पिस्टल 14 (12 बोर) कट्टे एवं 11 जिंदा कारतूस बरामद किए।

इसे भी पढ़ें-  कटनी कोरोना अपडेट: आज मिले 39 पॉजिटिव केस, रविवार को 326 लोगों के लिए गए थे सेम्पल

उक्त गिरफ्तार आरोपियों से पूछताछ पर बताया गया कि सिकलीगर द्वारा जंगली जानवरों के अवैध शिकार हेतु भी अन्य गिरफ्तार आरोपियों के देवास के जंगलों में भी भरमार बंदूक बनाकर दी गई है। जिस संबंध में सख्ती से पूछताछ कर उक्त जप्ती अलावा भी भरमार बंदूक व बनाने के औजारों की बरामदगी के प्रयास किए जा रहे है। गिरफ्तार आरोपियों के आपराधिक रिकार्ड की जानकारी ली जा रही है एवं आरोपियों से और पूछताछ की जा रही है।

Advertisements