Golden Temple श्री हरिमंदिर साहिब में बेअदबी का प्रयास, एसजीपीसी कर्मियों ने ग्रिल फांदकर अंदर घुसे युवक को पीट-पीट कर मार डाला

Advertisements

Golden Temple अमृतसर। श्री हरिमंदिर साहिब (गोल्डन टैंपल) परिसर में पाठ के दौरान शाम तकरीबन छह बजे एक अज्ञात शख्स मुख्य भवन में सुशोभित श्री गुरु ग्रंथ साहिब तक पहुंच गया। यह शख्स ग्रिल फांदकर अंदर घुसा। इस स्थान पर श्री गुरु ग्रंथ साहिब का प्रकाश है और सिंह साहिब को ही यहां बैठने की इजाजत है। इस घटना के बाद मुख्य भवन में अफरातफरी मच गई। एसजीपीसी कर्मियों व टास्क फोर्स ने इस युवक को पकड़कर बाहर खींचा और पीटते-पीटते शिरोमणि कमेटी कार्यालय तक ले गए। पिटाई से उसकी मौके पर ही मौत हो गई।

घटना की जानकारी मिलने पर सिख संगठन रोष से भर गए। सैकड़ों सिख शिरोमणि कमेटी कार्यालय तक पहुंचे। इससे पूर्व कि माहौल खराब होता, पुलिस मौके पर पहुंची और शव को कब्जे में ले लिया। एसजीपीसी का मानना है कि यह शख्स बेअदबी की नीयत से गुरु ग्रंथ साहिब तक पहुंचा था। इस दौरान उसने पावन स्वरूप के पास रखी तलवार उठाने की भी कोशिश की। सेवादारों और एसजीपीसी के टास्क फोर्स के कर्मचारियोंं ने उसे पकड़ लिया।

समाचार लिखे जाने तक व्यक्ति की पहचान नहीं हो पाई है। यह भी स्पष्ट नहीं कि उसका मकसद क्या था। बताया जा रहा है कि 22 वर्षीय यह युवक हिंदी भाषी राज्य का था। एसजीपीसी के कर्मचारियों ने उसकी इतनी अधिक मारपीट की है कि उसकी मौके पर मौत हो गई है। सूचना मिलते ही पुलिस अधिकारी घटनास्थल पर पहुंच गए हैं। हालत खराब न हो जाएं इस को लेकर पुलिस ने श्री हरिमंदिर साहिब के आसपास भारी पुलिस कर्मी तैनात कर दिए है।

दरअसल, टास्क फोर्स के कर्मचारी आरोपी को मौके पर पकड़कर उसकी मारपीट करते हुए उसे एसजीपीसी के मुख्य कार्यालय तक ले गए। उसे तब तक पीटा गया जब वह मर नहीं गया। इसी दौरान तेजा सिंह समुद्री हाल का बाहरी गेट बंद कर दिए गया। एसजीपीसी के कार्यालय के बाहर सिख जत्थेबंदियों के कार्यकर्ता भी पहुंचे।

Advertisements