Snake ओ डाक्टर साहेब जा सांप ने हमो डसो है…

Advertisements

महोबा। ओ डाक्टर साहेब जा सांप ने हमो डसो है.., सिर झुकाए बैठे पर्चे पर दवाइयां लिख रहे डाॅक्टर ने जैसे ही सामने देखा तो उनकी सिट्टी-पिट्टी गुम हो गई। क्योंकि, हाथ में सांप लेकर खड़ा युवक काटने की बात कहते हुए उपचार की मांग कर रहा था। उसे देखते ही ओपीडी में आसपास मौजूद मरीज और तीमारदार शाेर मचाकर इधर-उधर भागने लगे। यह नजारा सोमवार की शाम को महोबा के जिला अस्पताल का था, जहां किसान युवक की हरकत ने सभी को डरा दिया था।

महोबा के जिला अस्पताल में सोमवार की शाम उस समय मरीजों और तीमारदारों में अफरा तफरी मच गई, जब एक किसान युवक पॉलीथिन में सांप लेकर इमरजेंसी में आ गया। उसने डॉक्टर को सांप दिखाते हुए कहा कि इस सांप ने मुझे काटा है और मेरा उपचार करो। उसकी बात सुनते ही डॉक्टर समेत सभी लोग घबरा गए। बाद में पूरा मजरा समझ आने पर स्थिति सामान्य हुई और डॉक्टर ने उसका उपचार शुरू किया। दरअसल,

कबरई क्षेत्र के ग्राम गुगौरा निवासी 28 वर्षीय महेंद्र सोमवार को अपने खेत में बने कुएं में उतरकर सफाई कर रहा था। सफाई करते समय उसके पैर में एक सांप लिपट गया और उसे काट लिया।

महेंद्र ने झटका देकर सांप को पैर से अलग किया और फिर फावड़े से उसे मार डाला। इसके बाद वह सांप को पाॅलीथिन में भरकर जिला अस्पताल पहुंच गया। उसने इमरजेंसी में पाॅलीथिन से सांप निकालते हुए कहा कि ओ डाक्टर साहेब जा सांप ने हमो डसो है.., अब हमाओ जल्दी इलाज करौ। उसके हाथ में सांप देखते ही डॉक्टर और स्वास्थ्य कर्मी घबरा गए और मरीजों में अफरा तफरी मच गई। बाद में उसने डॉक्टर को बताया कि सांप मरा हुआ है, तब जाकर सभी की सांस में सांस आई और स्थिति सामान्य हो सकी। महेंद्र ने बताया कि वह मरा हुआ सांप जिला अस्पताल इसलिए लाया था कि डॉक्टर उसकी नस्ल देखकर जहर का पता लगा सकें और उसके अनुरूप ही उसका जल्दी उपचार हो सके। डॉक्टर ने उपचार के किसान युवक की हालत में सुधार बताया है।

Advertisements