Jabalpur News: बंद करो अवैध पैथालाजी कलेक्शन सेंटर, जबलपुर सीएमएचओ ने जारी किया फरमान

Advertisements

Jabalpur News जबलपुर। एक-एक पैथाजाली केंद्र के नाम संचालकों ने कई कलेक्शन सेंटर खोल लिए हैं। जहां पैथालाजी जांच के नाम पर मरीजों के साथ लूट खसोट की जा रही है। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. रत्नेश कुरारिया ने अवैध कलेक्शन सेंटरों को 24 घंटे के भीतर बंद करने के निर्देश दिए हैं। डॉ. कुरारिया के निर्देश पर पैथालाजी संचालकों को नोटिस जारी किए गए। इधर, स्वास्थ्य विभाग द्वारा पैथालाजी केंद्रों व कलेक्शन सेंटर की जांच के लिए अभियान चलाया जा रहा है। हालात यह है कि तीन में से दो पैथालाजी केंद्रों में अप्रशिक्षित अमले से टेक्नीशियन का काम कराया जा रहा है। तमाम पैथालाजिस्टों के नाम पर दो से ज्यादा पैथालाजी केंद्र खोले गए हैं। बताया जाता है कि शासन के निर्देशानुसार एक पैथालाजिस्ट अधिकतम दो पैथालाजी केंद्रों में सेवाएं दे सकता है। स्वास्थ्य विभाग की टीम शहर के तमाम पैथालाजी केंद्रों व कलेक्शन सेंटरों में दस्तक दे रही है। डॉ. कुरारिया ने कहा कि अवैध रूप से संचालित पैथालाजी व कलेक्शन सेंटरों के खिलाफ अभियान चलाकर कार्रवाई की जाएगी।

 

10 से ज्यादा कलेक्शन सेंटर : कई पैथोलाजी केंद्रों के नाम पर 10 से ज्यादा कलेक्शन सेंटर चलाए जा रहे हैं। जांच में जुटे स्वास्थ विभाग के अधिकारियों ने बताया कि सबसे बड़ी समस्या प्रशिक्षित अमले की है। पैथोलाजी केंद्र और कलेक्शन सेंटर में अप्रशिक्षित अमला काम कर रहा है। जिससे पैथोलाजी जांच की गुणवत्ता पर संदेह होता है। इतना ही नहीं पैथोलाजी रिपोर्ट पर पैथोलॉजिस्ट के कूटरचित हस्ताक्षर कर रिपोर्ट दी जा रही है। कहा जा रहा है कि स्वास्थ्य विभाग द्वारा पैथोलाजी केंद्रों की नियमित जांच पड़ताल के लिए जो टीम बनाई गई है वह अब तक केंद्र संचालकों से लेन-देन कर गड़बड़ी पर पर्दा डालने तक सीमित रही।

Advertisements