High court हाईकाेर्ट में ई-सेवा शुरू, जानें क्या सुविधा मिलेगी

Advertisements

High court ग्वालियर। हाई कोर्ट में अब कोई भी जानकारी लेने के लिए नहीं भटकना होगा। पक्षकार ई-सेवा केंद्र पर 11 तरह की सेवाएं ले सकते हैं। गुरुवार को इस केंद्र का शुभारंभ मध्य प्रदेश हाई कोर्ट के चीफ जस्टिस रवी मलिमठ ने किया। अब प्रमाणित कापी के साथ-साथ पक्षकार जेल में बंद कैदी से ई-मुलाकात का भी समय ले सकते हैं। इस केंद्र के शुभारंभ के बाद हाई कोर्ट बार एसोसिएशन ने चीफ जस्टिस का सम्मान भी किया।

हाई कोर्ट में कोई भी जानकारी लेने के लिए पक्षकार को वकील के भरोसे रहना पड़ता है या फिर भवन में बने कार्यालयों तक जाना पड़ता था, लेकिन कोविड-19 के चलते भवन में प्रवेश बंद है। पक्षकारों को जानकारी के लिए भटकना पड़ता था। इससे देखते हुए ई-सेवा केंद्र शुरू किया गया। ई-सेवा केंद्र हाई कोर्ट के प्रवेश द्वार पर बना हुआ है। जिसमें दो काउंटर बनाए गए हैं। पक्षकार को जो भी जानकारी लेना है, इस केंद्र से ले सकते हैं। अब किसी के भरोसे रहने की जरूरत नहीं है। इस केंद्र को वकील व पक्षकार दोनों की सहायता के लिए बनाया गया है।

 

High court ये सहायताएं मिलेंगी:

-कोर्ट आदेश की प्रमाणित कापी व सुनवाई के बारे में भी कर सकते हैं पूछताछ

-केस की स्थिति, सुनवाई की अगली तिथि, अन्य विवरण के संबंध में पूछताछ कर सकते हैं।

-आदेश की प्रमाणित प्रतियों के लिए आनलाइन आवेदन।

-साफ्टवेयर के माध्यम से याचिकाओं की ई-फाइलिंग।

-ई-स्टांप पेपर, ई-भुगतान, ई-न्यायालय शुल्क का आनलाइन क्रय।

-एंड्राइड आपरेटिंग सिस्टम के लिए ई-कोर्ट मोबाइल एप की डाउनलोडिंग।

-जेल में बंद कैदियों से ई-मुलाकात व अपाइंटमेंट भी ले सकते हैं।

-काज लिस्ट व मामले की सुनवाई के संबंध में प्रश्नों के उत्तर।

-विधिक सेवा प्राधिकरण की सेवाओं के संबंध में जानकारी।

-वीडियो कान्फ्रेंस के माध्यम से न्यायालय की सुनवाई की व्यवस्था एवं आयोजन करने की पद्घति।

-ई मेल, वाट्सएप आदि पर न्यायालय के आदेश की कापी उपलब्ध कराना

-ई-कोर्ट परियोजना के अंतर्गत डिजिटली उपलब्ध सुविधाओं के संदर्भ में अन्य सभी प्रश्नों के जवाब।

Advertisements