Raid Sex Scandal: देह व्यापार कॉलोनी तक पहुंचा ‘जिस्मफरोशी’ का धंधा, छापा के दौरान आपत्तिजनक हालत में मिले दो महिला और एक युवक

Advertisements

Raid Sex Scandal  देह व्यापार अब कॉलोनियों में भी जड़ें जमा रहा है। एक कॉलोनी के घर में आए दिन महिलाएं और पुरुष आते थे। कॉलोनी के लोगों को शक हुआ और उन्होंने जागरुकता दिखाई। कासगंज शहर की गंगेश्वर कॉलोनी में देह व्यापार की सूचना पर जब पुलिस ने Raid Sex Scandal छापा मारा तो सभी हैरान रह गए। पुलिस ने मौके से दो महिलाएं और एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया। क्षेत्राधिकारी ने इस मामले में मुकदमा दर्ज करने के आदेश दिए हैं। देह व्यापार के तार बुलंदशहर जिले से जुड़े हुए हैं। पुलिस को अंदेशा है कि बड़ा गिरोह कासगंज में सक्रिय है। मामला शनिवार देर रात का था। क्षेत्राधिकारी शहर दीप कुमार पंत को सूचना मिली थी कि गंगेश्वर कॉलोनी में देह व्यापार के लिए बाहर से महिलाएं बुलाई जाती हैं। यहां काफी समय से देह व्यापार हो रहा है। सूचना के बाद कोतवाली पुलिस के साथ मौके पर छापा मारा तो उन्हें दो महिलाएं और एक युवक मिला। पूछताछ में पता चला कि मामला देह व्यापार से जुड़ा हुआ है।

Sex Scandal देह व्यापार में पकड़ा गया व्यक्ति बुलंदशहर जिले का रहने वाला राजेश बताया गया है। पुलिस का दावा है कासगंज में बड़ा गिरोह सक्रिय है जो महिलाओं को बाहर से लाकर देह व्यापार कराता है। पुलिस दावा कर रही है कि जल्द ही पूरे रैकेट का पर्दाफाश किया जाएगा। इस संबंध में सीओ सिटी दीप कुमार पंत ने बताया कि तीनों के खिलाफ पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज कर ली है।

Raid Sex Scandal पुलिस टीम को मिले दो मोबाइल

पुलिस ने युवक के पास दो मोबाइल बरामद किए हैं। पुलिस इन मोबाइल की डिटेल निकालकर रैकेट को पकड़ने का प्रयास कर रही है।Raid Sex Scandal  देह व्यापार पकड़ने की टीम में क्षेत्राधिकाा दीपकुमार पन्त, रमेश प्रसाद भारद्वाज, प्रभारी निरीक्षक कोतवाली कासगंज, महिला उपनिरीक्षक नीतू यादव, सिपाही, लोकेन्द्र कुमार, सतीश कुमार, महिला सिपाही कविता शर्मा और सुगन्धी शामिल थे।

इससे पहले भी कासगंज में अगस्त माह में एक गिरोह का पर्दाफाश हुआ था। जिसमें देह व्यापार के लिए नाबालिग लड़कियों की खरीद-फरोख्त करने वाला गिरोह पुलिस ने पकड़ा था। इस मामले में पति-पत्नी समेत तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया था। इनमें तीसरा आरोपी किन्नर था।

किन्नर के घर से जयपुर की रहने वाली नाबालिग लड़की मिली थी। पुलिस के अनुसार ये गिरोह देह व्यापार के लिए दूसरे राज्यों से बालिग और नाबालिग लड़कियों को खरीदकर लाकर बेचने का काम करता था। चांदनी किन्नर ने एक नाबालिग लड़की को एक लाख 20 हजार रुपये में खरीदा था।

 

Advertisements