Tomato: इंदौर में टमाटर फिर हुआ महंंगा, मटर और हरी सब्जियों के दाम गिरे

Advertisements

इंदौर। ठंड के मौसम में सब्जियों की आवक बढ़ रही है। इस बीच टमाटर एक बार फिर महंगाई की सुर्खी लिए लाल हो गया है, जबकि मटर जैसी मौसम की नई सब्जियों से लेकर अन्य तमाम सब्जियों के दाम घट रहे हैं। इंदौर की देवी अहिल्याबाई होलकर थोक सब्जी मंडी में गुरुवार को टमाटर के औसत दाम 1000 रुपये से 1100 रुपये प्रति क्रेट तक पहुंच गए, जबकि ऊपर में एक-दो लाट 1200 से 1300 रुपये प्रति क्रेट के दाम पर बिके। मैथी, मटर व अन्य सब्जियों के दाम खासे गिर गए हैं।

थोक मंडी में महंगे हुए टमाटर के साथ ही खेरची बाजार में भी टमाटर के दाम ऊंचाई पर है। खेरची में टमाटर 80 से 100 रुपये किलो के दाम पर बिक रहा है। थोक कारोबारी ईमरान राइन के मुताबिक इंदौर थोक मंडी में इस समय निमाड़ लाइन से टमाटर की आवक हो रही है। गुरुवार को 30 छोटी गाड़ियों के साथ बड़ी गाड़ियां भी पहुंची। आवक तो अच्छी है लेकिन टमाटर में बाहरी मांग बहुत है। बीते दिनों की बारिश के कारण दक्षिण भारत और उत्तर प्रदेश समेत कई क्षेत्रों में टमाटर की फसल को नुकसान हुआ। ऐसे में दिल्ली व अन्य राज्यों से मप्र में टमाटर की खरीदी बढ़ गई।

इसे भी पढ़ें-  Home Loan For Police Policy: नेताओं और पुलिस वालों को होम लोन देने से किसी ने मना नहीं किया: वित्त मंत्री

बाहरी मांग के कारण स्थानीय स्तर पर टमाटर महंगा बिक रहा है। हालांकि मटर जो बुधवार रात को 50 से 55 रुपये बिका गुरुवार सुबह 30 से 35 रुपये तक भी सौदे हुए। आने वाले 15 दिनों में मटर के दाम 25 से 30 रुपये किलो औसत रह जाएंगे। मैथी के दाम भी गिरकर 5 से 7 रुपये किलो रह गए हैं। लौकी जो बीते दिनों 25 रुपये किलो तक बिक रही थी अब 3 से 5 रुपये किलो बिक रही है।

गिलकी भी 10 से 12 रुपये किलो तक आ गई है। थोक में अदरक भी सस्ता होकर 10 से 12 रुपये किलो रह गया है। थोक में भिंडी 20 से 25 रुपये किलो बिक रही है। हरी सब्जियों की आवक अभी लगातार बढ़ रही है ऐसे में दाम और गिरने के आसार है, जबकि टमाटर में बाहरी मांग बनी रहने से जल्दी नरमी नहीं दिख रही।

Advertisements