King Kobra: सोती हुई पत्नी के ऊपर छोड़ दिया था किंग कोबरा

Advertisements

केरल की एक सत्र अदालत (Kerala Court) ने कोबरा सांप (snake bite cases) का इस्तेमाल कर पत्नी की हत्या के मामले में पति को दोहरी उम्रकैद की सजा सुनाई है. अदालत ने इसे दुर्लभतम मामलों में से एक कहा था और पति पी सूरज की उम्र को देखते हुए मौत की सजा को बख्श दिया. अदालत ने कहा कि 32 वर्षीय को दोनों सजा अलग से भुगतनी होगी, उम्रकैद की सजा 17 साल बाद ही शुरू होगी, जिसका मतलब है कि उसे अपना शेष जीवन जेल में बिताना होगा।

अदालत ने 11 अक्टूबर को सूरज एस कुमार को कोबरा का इस्तेमाल कर हत्या करने, जहर देने, सबूत मिटाने और हत्या के प्रयास का दोषी ठहराया था।

सजा सुनाने वाले अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश मनोज एम ने कहा कि मामला दुर्लभ से दुर्लभतम है, लेकिन दोषी की उम्र (28 साल) को देखते हुए उसे मृत्युदंड के बजाय उम्रकैद की सजा देने का फैसला किया है। अदालत में मौजूद एक वकील ने इस संंबंध में जानकारी शेयर की।

किस मामले में कितनी सजा

वकील ने यह भी कहा कि अदालत ने कुमार को हत्या के प्रयास के अपराध में उम्रकैद, जहर देने के मामले में 10 साल और सबूत नष्ट करने के लिए सात साल की सजा सुनाई. वकील ने बताया कि अदालत ने दोषी पर कुल 5.85 लाख रुपये का जुर्माना भी लगाया। सूरज ने पिछले साल मई में अपनी पत्नी उथरा को सोते समय कोबरा से डसवा कर मार डाला था।

क्या है पूरा मामला

इससे पहले फैसला सुरक्षित करते वक्त अदालत ने कहा था कि दोषी इस जघन्य अपराध के लिए सहानुभूति का पात्र नहीं है।

अभियोजन पक्ष ने 32 वर्षीय दोषी के लिए सजा-ए-मौत की मांग की थी।

सूरज को आईपीसी की धारा 302 (हत्या), 307 (हत्या का प्रयास), 328 और 201 के तहत दोषी पाया गया था। अभियोजन पक्ष ने तर्क दिया था कि उसने 7 मई, 2020 को नशीला पदार्थ देकर उसके ऊपर कोबरा छोड़कर हत्या कर दी थी।

25 साल की महिला उथरा के एक सांप के काटने का पहले से ही इलाज चल रहा था, जिसके बाद उसके पति ने उसके ऊपर एक और कोबरा छोड़ दिया। अभियोजन पक्ष की तरफ से कहा गया था कि पहले सांप के काटने से वो बच गई थी, हालांकि दूसरी बार कोबरा के काटने के चलते उसकी मौत हो गई थी।

Advertisements