BHOPAL NEWS- ब्यूटीशियन की लाश फांसी पर लटकी मिली

Advertisements

भोपाल। मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल के महाराणा प्रताप नगर जोन 1 में ग्वालियर की रहने वाली 27 वर्षीय युवती किरण मेहदौरिया की लाश फांसी पर लटकी हुई मिली है। किरण ने ब्यूटीशियन का कोर्स किया था। पुलिस का कहना है कि भोपाल में किरण अपने पति के साथ रहती थी जबकि किरण के माता पिता का कहना है कि किरण ने किसी से शादी नहीं की। घटनास्थल से कोई सुसाइड नोट भी नहीं मिला है। पुलिस ने इन्वेस्टिगेशन शुरू कर दी है। इस मामले में क्राइम पेट्रोल जैसी कोई स्टोरी सामने आने की संभावना है।

 

ग्वालियर की किरण मेहदौरिया पढ़ाई पूरी करके नौकरी तलाश रही थी

जानकारी के मुताबिक, ग्वालियर निवासी किरण मेहदौरिया (27) BCom के बाद PGDCA की पढ़ाई कर रोजगार के तलाश में थी। उसने ब्यूटीशियन का कोर्स भी किया था। किरण के पिता सुरेन्द्र सिंह मेहदौरिया ने बताया कि मार्च 2020 में बेटी की पहचान ग्वालियर के रहने वाले दिनेश दुबे से हुई। दिनेश ने बेटी को बताया था कि वह मानव अधिकार आयोग से जुड़कर NGO चलाता है। साथ में दवा सप्लाई करता है।

भोपाल में नौकरी दिलाने लाया था दिनेश दुबे: किरण के पिता ने बताया

दिनेश 4 अगस्त को बेटी को नौकरी दिलाने का झांसा देकर ग्वालियर से भोपाल लेकर आ गया। सुरेन्द्र ने बताया कि मंगलवार शाम करीब 4 बजे एमपी नगर थाना पुलिस ने फोन किया कि किरण का शव उसके रूम में फंदे पर लटका है। हम लोग तुरंत ही भोपाल के लिए रवाना हुए। सुरेन्द्र ग्वालियर में पेंटर हैं। किरण एमपी नगर जोन-1 में रह रही थी।

किरण ने मुझे कभी शादी की बात नहीं बताई: मां मीरा देवी

किरण की मां मीरा देवी ने बताया कि सोमवार शाम बेटी का फोन आया था। करीब आधा घंटे तक उसने बात की थी। बातचीत में उसने कोई समस्या नहीं बताई थी। मीरा देवी का कहना है कि उनकी बेटी सुसाइड नहीं कर सकती। उसे दिनेश दुबे ने मारकर फंदे पर लटका दिया है। बेटी ने कभी भी उसे शादी की बात नहीं बताई।

ग्वालियर एसपी से शिकायत की थी लेकिन उन्हें कार्रवाई नहीं की: पिता सुरेंद्र सिंह

सुरेन्द्र सिंह ने बताया कि दिनेश मेरी बेटी को फोन पर बात करने नहीं देता था। ग्वालियर भी नहीं आने देता था। इसकी शिकायत मैंने तीन माह पहले ग्वालियर एसपी आफिस में की थी, हालांकि पुलिस ने कोई एक्शन नहीं लिया। सुरेन्द्र का कहना है कि आरोपी के खिलाफ वह ग्वालियर पुलिस से शिकायत करेंगे।

दिनेश ने 6.20 लाख रुपए के लिए किरण को मार डाला: पिता का आरोप

सुरेन्द्र ने बताया कि व्यवसाय के लिए दिनेश मुझसे पांच लाख रुपए ले चुका है, जबकि बेटी को झांसा देकर उसने 1.20 लाख रुपए लिए थे। वह पैसा वापस नहीं कर रहा था। उसने बेटी को पांच लाख रुपए का चेक दिया था। जो भी फर्जी समझ आ रहा था। चेक भी बेटी के पास था। पिता को आशंका है कि रुपए न लौटाना पड़े इसलिए दिनेश ने बेटी को मार डाला है।

 

Advertisements

इसे भी पढ़ें-  Aryan Khan Drugs Case: ‘कसम खाता हूं, जेल से बाहर जाकर ड्रग्स को नहीं लगाऊंगा हाथ’, जानें आर्यन खान ने NCB से और क्या कहा