Anti Mafia Campaign: हिस्ट्रीशीटर अब्दुल रज्जाक के साथी खलीफा पर बड़ी कार्रवाई, 11 हजार वर्गफीट जमीन कब्जे से मुक्त कराई

Advertisements

जबलपुर। हिस्ट्रीशीटर अब्दुल रज्जाक के साथी पुलिस और प्रशासन के निशाने पर आ गए हैं। बुधवार सुबह रज्जाक के करीबी साथी अकील उर्फ पप्पू खलीफा के खिलाफ बड़ी कार्रवाई करते हुए उसके कब्जे से करीबी 11,000 वर्गफीट सरकारी जमीन मुक्त कराई गई। जमीन की अनुमानित कीमत 10 करोड़ रुपये बताई जा रही है। पुलिस अधीक्षक सिद्धार्थ बहुगुणा ने बताया कि अखिल के खिलाफ हत्या, हत्या का प्रयास, विस्फोटक पदार्थ अधिनियम, आर्म्स एक्ट, बलवा कर मारपीट समेत 20 आपराधिक प्रकरण दर्ज हैं। उसने रद्दी चौकी गोहलपुर में संजीवनी अस्पताल के पास जबलपुर विकास प्राधिकरण की हजारों वर्ग फीट जमीन पर बेजा कब्जा कर चार दुकान, मकान और गोदाम का निर्माण कर लिया था।

एंटी माफिया अभियान के तहत कार्रवाई: माफिया विरोधी अभियान के तहत जिला प्रशासन, पुलिस और नगर निगम की टीम ने बुधवार सुबह निगरानीशुदा बदमाश पप्पू अकील व शकील अहमद पिता हाजी सईद अहमद के रद्दी चौकी के समीप लगभग 11 हजार वर्गफुट में निर्मित भवन, दुकानों व गोदाम को ध्वस्त करने की कार्रवाई की गई। कलेक्टर कर्मवीर शर्मा और पुलिस अधीक्षक सिद्धार्थ बहुगुणा के निर्दश पर जिला प्रशासन, पुलिस और नगर निगम की संयुक्त टीम ने धावा बोला। एसडीएम आधारताल नमः शिवाय अरजरिया के अनुसार जिस भूमि पर माफिया पप्पू अकील द्वारा अवैध निर्माण जबलपुर विकास प्राधिकरण की है।

इसे भी पढ़ें-  नवाब मलिक को समीर वानखेड़े का जवाब, खुद को बताया मुस्लिम मां और हिंदू पिता का बेटा

उन्होंने बताया कि इस भूमि के करीब छह हजार वर्गफुट के हिस्से में कबाड़ का गोदाम बना लिया गया था तथा पांच हजार वर्गफीट जमीन पर शापिंग काम्प्लेक्स का निर्माण किया गया था। उन्होंने बताया कि कब्जे से मुक्त कराई जा रही भूमि का बाजार मूल्य कीमत करीब साढ़े दस करोड़ रुपये और उस पर हुये अवैध निर्माण की कीमत लगभग डेढ़ करोड़ रुपये है। बताया जाता है कि मध्यप्रदेश शासन द्वारा भू-मफिया, राशन की काला बाजारी, मिलावटखोरों, भू-माफियाओं/चिटफंड कंपनी के कारोबारियों एवं सूदखोरों के विरुद्ध सख्त कार्रवाई करने के निर्देश प्रशासन व पुलिस विभाग को दिए गए हैं। निर्देशों के तहत पुलिस एवं प्रशासन तथा नगर निगम की संयुक्त टीम के द्वारा इस प्रकार के माफियाओं को सूचीबद्ध कर उनके खिलाफ प्रभावी कार्रवाई की जा रही है।

इसे भी पढ़ें-  सुषमा, सोनिया से मुलायम तक; अमरिंदर ने फिर फोड़ा फोटो बम, पूछा- क्या इन सबके ISI से संबंध हैं?

बड़ी संख्या में अधिकारी व पुलिस बल तैनात: कार्रवाई के दौरान विवाद होने की आशंका को ध्यान मे रखते हुए बड़ी संख्या में प्रशासन व पुलिस के अधिकारी तथा पुलिस बल तैनात रहा। नगर पुलिस अधीक्षक गोहलपुर अखिलेश गौर, उप पुलिस अधीक्षक ग्रमीण अपूर्वा किलेदार, उप पुलिस अधीक्षक यातायात मधुकर चौकीकर, थाना प्रभारी गोहलपुर अरविंद चौबे, थाना प्रभारी हनुमानताल उमेश गोलानी, थाना प्रभारी माढ़ोताल रीना पाण्डेय शर्मा, थाना प्रभारी घमापुर जीआर चंद्रवंशी, थाना प्रभारी संजीवनी नगर शोभना मिश्रा, महिला थाना प्रभारी शबाना परवेज, निरीक्षक क्रांति कुमार ब्रम्हे, संदीपिका ठाकुर के साथ तथा एसडीएम आधारताल नमः शिवाय अरजरिया, नायब तहसीलदार संदीप कुमार जायसवाल एवं नगर निगम के अतिक्रमण दस्ता प्रभारी सागर बोरकर मौजूद रहे।

Advertisements