पंचायत सचिव सस्पेंड, इन आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओ को किया बर्खास्त, जानिए कारण

Advertisements

भोपाल। मध्य प्रदेश के सीहोर में शासकीय राशि का गबन करने पर प्रभारी पंचायत सचिव और शिवपुरी में अनुपस्थित पाए जाने पर पटवारी को निलंबित कर दिया गया है।वही शिवपुरी में अनुपस्थित होने पर दो आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं को बर्खास्त कर दिया गया है।

इसके अलावा शिवपुरी में प्रभारी चिकित्सा अधिकारी एवं चिकित्सा अधिकारी और मुरैना में जिला रोजगार अधिकारी को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है। साथ ही का एक दिन का वेतन काटने के भी निर्देश दिए गए है। मुरैना में ही DRCS का 2 दिन का वेतन काटने के साथ नोटिस जारी किया गया है।

सीहोर में ग्राम पंचायत मुख्तारनगर के प्रभारी सचिव राधेश्याम पचवारिया को जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी हर्ष सिंह ने तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है।

निलंबन अवधि में पचवारिया का मुख्यालय कार्यालय जनपद पंचायत सीहोर नियत किया जाता है।यह कार्रवाई राशि आहरित होने के बावजूद निर्माण कार्यों में घोर लापरवाही और वित्तीय अनियमित्ता करने पर की गई है। जांच दल की रिपोर्ट के आधार पर पचवारिया को पदीय दायित्वों के प्रति घोर लापरवाही बरतने तथा शासकीय राशि का गवन करने के कारण निलंबित किया गया है।

इसे भी पढ़ें-  Bhopal धार्मिक भावनाएं भड़काने के आरोप में हेडमास्टर गिरफ्तार

शिवपुरी में अनुविभाग पिछोर में शिवपुरी कलेक्टर अक्षय कुमार सिंह के मार्गदर्शन में पिछोर एसडीएम जेपी गुप्ता द्वारा निरीक्षण के दौरान मौके पर स्थानीय हल्का पटवारी पवन राजे अपनी निर्धारित ड्यूटी पर पूर्व में बिना सूचना के अनुपस्थित पाया गया।

आदेश के बावजूद पटवारी द्वारा अपने कार्य में घोर लापरवाही के कारण पिछोर एसडीएम जे पी गुप्ता ने हल्का पटवारी को निलंबित किया है।

वही शिवपुरी की खनियांधाना तहसील के ग्रामीण क्षेत्रों का जिला कार्यक्रम अधिकारी एवं परियोजना अधिकारी खनियाधाना द्वारा भ्रमण किया गया।

इस मौके पर ग्राम बामौरकलां स्थित कुशवाह मोहल्ला के आंगनवाड़ी केन्द्र की कार्यकर्ता मंदाकनी तिवारी एवं आंगनवाड़ी केन्द्र बामौरकलां-दो की कार्यकर्ता शारदा गुप्ता संबंधित केन्द्रों पर अनुपस्थित पाए जाने के कारण कार्यकर्ता पद से प्रथक किए जाने की कार्यवाही की गई है।

इसे भी पढ़ें-  सागर से जबलपुर लौट रहे बाइक सवार 3 युवकों को भारी वाहन ने कुचला, मौके पर दम तोड़ा

सेवा समाप्ति के आदेश के विरूद्ध पीड़ित पक्षकार द्वारा आदेश प्राप्ति की तिथि से 7 दिवस के अंदर प्रथम अपील जिला कलेक्टर एवं द्वितीय अपील संभागीय आयुक्त (राजस्व) के समक्ष प्रस्तुत की जा सकती है।

शिवपुरी में मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी द्वारा प्राथमिक स्वास्थ्य केद्र बैराड़ के प्रभारी चिकित्सा अधिकारी डॉ.हरीश आर्य एवं चिकित्सा अधिकारी डॉ.नरेन्द्र वर्मा को सरकारी काम में रूचि न लेने, लापरवाही एवं उदासीनता बरतने पर कारण बताओं सूचना पत्र जारी किए है।साथ ही जारी सूचना पत्रों का स्पष्टीकरण तीन दिवस में संबंधित कार्यालय में भेजने के निर्देश दिए है। जवाब संतोषजनक न होने की स्थिति में सात दिवस का वेतन काटने के साथ-साथ अनुशासनात्मक कार्यवाही प्रस्तावित की जाएगी।

इसे भी पढ़ें-  जबलपुर में अतिथि शिक्षकों ने नर्मदा में उतरकर किया जल सत्याग्रह

3 कर्मचारियों को नोटिस और वेतन काटने के निर्देश
मुरैना कलेक्टर बी.कार्तिकेयन ने सितम्बर माह में कितने लोगों को रोजगार उपलब्ध कराया है। इस संबंध में आईटीआई, रोजगार कार्यालय, पॉलीटेक्निक, उद्योग और मध्यप्रदेश डे राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन द्वारा रोजगार उपलब्ध कराया है। समीक्षा में जिला रोजगार अधिकारी प्रियंका कुलश्रेष्ठ अनुपस्थित पायी गई। इस पर कलेक्टर ने तत्काल कुलश्रेष्ठ का एक दिन का वेतन काटने एवं कारण बताओ नोटिस जारी करने के निर्देश दिये। शासकीय उचित मूल्य की दुकान पर उपलब्धता का डीडी जारी होने की जानकारी उप पंजीयक भदौरिया द्वारा नहीं देने पर मुरैना कलेक्टर बी.कार्तिकेयन ने तत्काल प्रभाव से दो दिन का वेतन काटने एवं नोटिस जारी करने के निर्देश दिये है।

Advertisements