मंडीदीप नपा में पीएम आवास योजना को लेकर जमकर चल रही घूसखोरी, लोकायुक्‍त कार्रवाई से हुआ खुलासा

Advertisements

मंडीदीप। औद्योगिक नगरी डीदीप में नगर पालिका के तीन कर्मचारियों पर हुई लोकायुक्त की कार्रवाई से जहां नपा की जमकर किरकिरी हो रही है, वहीं एक दर्जन नपाकर्मियों के चेहरों की दो दिन से रौनक गायब हो गई है। यह वो कर्मचारी हैं, जो आय से अधिक संपत्‍ति के मामले में रडार पर हैं। वहीं लोकायुक्त छापे से तीन घंटे पहले भी दो महिलाओं ने मुख्य नगर पालिका अधिकारी को शिकायती आवेदन दिया था, जिसमें एक लाख की किस्‍त जारी करने पर दस दस हजार रुपये की घूंस मांगी गई थी। इसकी सीएमओ जांच करा रहे हैं। हैरत की बात तो यह है कि पीएमआवास योजना में सम्बंधित शाखा के साथ नपा की अन्य शाखाओं के कर्मचारी भी लिप्त पाए गए। यह खुलासा बुधवार को लोकायुक्‍त के छापे के बाद जल शाखा विभाग के परमानन्द विश्वकर्मा के रूप में सामने आया।

इसे भी पढ़ें-  दुष्कर्म का आरोपित बड़नगर विधायक का बेटा करण मोरवाल मक्सी से गिरफ्तार

नपा में पसरा सन्नाटा

लोकायुक्त की कार्रवाई बुधवार की रात को देर तक चली। दूसरे दिन गुरुवार को भी नपा में सन्नाटा छाया रहा। कर्मचारी सहमे दिखाई दिए। लोकायुक्त अधिकारियों ने पीएम आवास योजना के प्रभारी अधिकारी अनूप शर्मा को गुरुवार दस बजे लोकायुक्त कार्यालय में तलब किया। उनसे देर तक पूछताछ चलती रही। बताया जाता है कि अधिकारी कंप्‍यूटर जब्‍त करना चाहते थे, परंतु आवास योजना के कार्य प्रभावित न हों, इसलिए सभी हितग्राहियों की सूची तलब की। बताया यह भी जा रहा है कि नपा के जवाबदार अपना दामन बचाने के लिए कुछ कर्मचारियों को मोहरा बना रहे हैं।

इसे भी पढ़ें-  Gwalior Stone Mafia News: पत्थर माफिया को टक्कर देने नया प्रयोग, पत्थर के गड्ढों की जीपीएस रीडिंग, रोज होगी नापतौल

होगी संपत्‍ति की जांच
लोकायुक्त विभाग की कार्रवाई की जद में आए तीनों नपा कर्मियों की चल-अचल सम्पत्‍ति की जांच कराई जाएगी। लोकायुक्त अधिकारी ने बताया कि आरोपितों के पास आलीशान मकान, मंहगी चारपहिया नई गाड़ियों की जानकारी मिली है। बताया जाता है कि पीएम आवास की क़िस्त जारी करने वाले करतार राजपूत ने सिमराई बैरसिया में मकान तथा आरोपित के भाई ने औबेदुल्लागंज में शॉपिंग माल दो माह पहले खोला था जिसका उद्घाटन क्षेत्रीय विधायक ने किया था।

दो आरोपित भी हुए पेश
आठ हजार रुपए की रिश्वत मामले में एक आरोपित परमानन्द को अधिकारियों ने मौके पर दबोच लिया था। लोकायुक्त अधिकारी ने बताया के बाकी के दोनों आरोपित करतार राजपूत और राजा पेश हुए, जिनसे विस्तृत पुछताछ की गई। साथ ही नपा के अन्य लोगों को नोटिस जारी कर बुलाया गया है।

इसे भी पढ़ें-  RTE School Admission : निजी स्‍कूलों में गरीब बच्‍चों के निश्शुल्क प्रवेश के लिए 29 अक्‍टूबर से शुरू होगा काउंसिलिंग का दूसरा चरण

गुरुवार को करतार और राजा पेश हुए। साथ ही प्रभारी अनूप शर्मा से भोपाल कार्यालय में लंबी पूछताछ की गई। नपा के कुछ कर्मचारियों को नोटिस जारी कर सोमवार को बुलाया गया है।
-नीलम पटवा, लोकायुक्त अधिकारी, भोपाल

Advertisements