अजय सिंह राहुल, नरोत्तम मिश्रा से मिले, कमलनाथ के ऑफिस में तनाव

Advertisements
भोपाल। मध्य प्रदेश कांग्रेस पार्टी में ज्योतिरादित्य सिंधिया के चले जाने के बाद सिंधिया विरोधियों के बीच तनाव बढ़ते जा रहे हैं।
प्रदेश अध्यक्ष कमल नाथ और विंध्य प्रदेश के दिग्गज नेता अजय सिंह राहुल के बीच विवाद किसी से छुपा नहीं है। पिछले दिनों अजय सिंह राहुल ने गृह मंत्री डॉ नरोत्तम मिश्रा से मुलाकात की।
https://twitter.com/intent/tweet?ref_src=twsrc%5Etfw%7Ctwcamp%5Etweetembed%7Ctwterm%5E1440195065129758727%7Ctwgr%5E%7Ctwcon%5Es1_&ref_url=https%3A%2F%2Fwww.bhopalsamachar.com%2F2021%2F09%2Fmp-news_60.html&in_reply_to=1440195065129758727
ऑफिस ऑफ कमलनाथ टेंशन में है, कंफर्म करना चाहता है कि दोनों के बीच क्या चल रहा है।
कमलनाथ का मानना है कि 2018 के विधानसभा चुनाव में यदि अजय सिंह राहुल के विंध्य क्षेत्र में कांग्रेस पार्टी को सफलता मिल जाती तो वह आज भी मुख्यमंत्री होते। कमलनाथ खुलकर बयान दे चुके हैं कि विंध्य क्षेत्र में कांग्रेस पार्टी कमजोर है। यदि वहां विधायकों की संख्या अच्छी होती तो ज्योतिरादित्य सिंधिया उनको मुख्यमंत्री के पद से बेदखल नहीं कर पाते। अजय सिंह राहुल लगातार कमलनाथ को जवाब देते आ रहे हैं लेकिन पार्टी के भीतर संघर्ष भी बढ़ता जा रहा है। कमलनाथ किसी भी कीमत पर पूरे प्रदेश में अपना एकाधिकार स्थापित करना चाहते हैं।
पिछले दिनों चार इमली स्थित गृह मंत्री डॉ नरोत्तम मिश्रा के निवास पर अजय सिंह राहुल मुलाकात करने पहुंचे। दोनों के बीच बंद कमरे में 40 मिनट तक बातचीत हुई। इस मुलाकात के बाद पॉलिटिकल गॉसिप शुरू हो गए हैं।
अजय सिंह राहुल, अर्जुन सिंह के बेटे हैं, खानदानी कांग्रेसी हैं लेकिन पिछले कुछ सालों में कई खानदानी कांग्रेसियों ने कांग्रेस पार्टी को अलविदा कहा है।
हाईकमान अब और ज्यादा नुकसान सहन करने के मूड में नहीं है। पंजाब में कमलनाथ के मित्र कैप्टन अमरिंदर सिंह को हटा दिया गया और राजस्थान में भी कमलनाथ के मित्र संकट में है।
Advertisements

इसे भी पढ़ें-  Guest Professor Jobs: कॉलेजों में अतिथि विद्वानों की भर्ती हेतु UGC का सर्कुलर जारी