पद्म पुरस्कार-2022 के लिए नामांकन की आखिरी तारीख आज, गणतंत्र दिवस पर किया जाएगा विजेताओं का एलान

Advertisements

गृह मंत्रालय (Home Ministry) ने बताया कि पद्म पुरस्कारों के लिए नामांकन दाखिल करने की आखिरी तारीख बुधवार को है. मंत्रालय द्वारा मंगलवार को जारी की गई आधिकारिक रिलीज के अनुसार, “गणतंत्र दिवस, 2022 के अवसर पर घोषित किए जाने वाले पद्म पुरस्कारों (पद्म विभूषण, पद्म भूषण और पद्म श्री) के लिए ऑनलाइन नामांकन/सिफारिशें जारी हैं. पद्म पुरस्कारों के नामांकन के लिए अंतिर तारीख 15 सितंबर, 2021 तय की गई है.”

मंत्रालय ने बताया कि पद्म पुरस्कारों के लिए नामांकन केवल आधिकारिक पद्म पुरस्कार पोर्टल (Padma Awards Portal) पर ऑनलाइन प्राप्त की जाएंगी. मंत्रालय ने बताया कि सरकार पद्म पुरस्कारों को “पीपुल्स पद्मा” में बदलने के लिए प्रतिबद्ध है. इसलिए उन्होंने सभी नागरिकों से अनुरोध किया है कि वे ऐसे प्रतिभाशाली व्यक्तियों की पहचान करें जिनकी उत्कृष्टता और उपलब्धियों को वास्तव में पहचाना जाना चाहिए. उन्होंने ऐसे महिलाओं, अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति, दिव्यांग व्यक्तियों का नाम सामने लाने की बात कही है जो समाज की निस्वार्थ सेवा कर रहे हैं.

इसे भी पढ़ें-  Lokayukta Raid: लोकायुक्‍त टीम ने पंचायत समन्वयक अधिकारी ओमप्रकाश राठौर को रिश्‍वत लेते पकड़ा

गृह मंत्रालय की वेबसाइट पर जानकारी उपलब्ध

वहीं पोर्टल में नामांकन करने से पहले उपयुक्त व्यक्ति के सभी डीटेल शामिल होने चाहिए. उनके बारे में 800 शब्दों में लिखा होना चाहिए जिसमें उनके असाधारण उपलब्धियों/सेवा को स्पष्ट रूप से सामने लाया गया हो. नामांकन के बारे में डीटेल जानकारी गृह मंत्रालय की वेबसाइट पर ‘पुरस्कार और पदक’ शीर्षक के तहत भी उपलब्ध हैं. जिसमें जाकर कोई भी व्यक्ति नामांकन के पहले इन पुरस्कारों से संबंधित क़ानून और नियम पढ़ सकता है.

स्व-नामांकन भी किया जा सकता है

मालूम हो कि पद्म पुरस्कार गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर हर साल घोषित किए जाने वाला भारत के सर्वोच्च नागरिक सम्मानों में से एक है. ये पुरस्कार तीन श्रेणियों में दिए जाते हैं. पहला पद्म विभूषण (असाधारण और विशिष्ट सेवा के लिए), पद्म भूषण (उच्च क्रम की विशिष्ट सेवा) और पद्म श्री (प्रतिष्ठित सेवा). पुरस्कार गतिविधियों या विषयों के सभी क्षेत्रों में उपलब्धियों को मान्यता देना चाहता है जहां सार्वजनिक सेवा भी शामिल है. वहीं यह पुरस्कार पद्म पुरस्कार समिति द्वारा की गई सिफारिशों पर प्रदान किए जाते हैं, जिसका गठन हर साल प्रधान मंत्री द्वारा किया जाता है. नामांकन प्रक्रिया जनता के लिए खुली है. स्व-नामांकन भी किया जा सकता है.

इसे भी पढ़ें-  सरकार का बड़ा कदम: भारत में सीधे फंड भेजने से नौ विदेशी NGOs को रोका, पढ़ें आखिर क्यों लिया गया ये फैसला
Advertisements