ATS ने किया आतंकी मॉड्यूल का भंडाफोड़-6 आतंकी गिरफ्तार: पाकिस्तान में ली थी ट्रेनिंग, नवरात्र-दशहरा और दिवाली पर देश को दहलाने की साजिश

Advertisements

दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने बड़ी कामयाबी हासिल करते हुए छह आतंकियों को गिरफ्तार किया है। इनमें से दो आतंकी हाल में पाकिस्तान से प्रशिक्षण लेकर लौटे हैं। ये आतंकी दिल्ली, महराष्ट व यूपी को दहलाने की साजिश रच रहे थे।

आतंकियों के इस मॉड्यूल का पर्दाफाश होने के साथ ही पाक खुफिया एजेंसी आईएसआई व अंडरवर्ल्ड की सांठगांठ सामने आई है। आईएसआई ने अंडरवर्ल्ड के साथ देश को दहलाने की साजिश की नई रणनीति अपनाई है। इसमें एक ग्रुप को नवरात्र व रामलीलाओं के दौरान भीड़भाड़ वाली जगहों पर भंडाबम धमाके करने थे और उन जगहों की पहचान करनी थी।

वहीं दूसरे ग्रुप को टारगेट किलिंग करनी थी। पाकिस्तान में बैठे अंडरवर्ल्ड दाऊद इब्राहिम व उसके भाई अनिस को भारत में हथियार पहुंचाने थे और फंडिंग का इंतजाम करना था। इलाहाबाद, यूपी से विस्फोटक, हथियार-गोला बारूद बरामद किया गया है।

इसे भी पढ़ें-  IMD Alert full forecast: मध्य प्रदेश, गुजरात समेत 5 राज्यों में भारी बारिश का अलर्ट, जानिए 16, 17, 18 सितंबर का पूर्वानुमान

दिल्ली पुलिस के विशेष पुलिस आयुक्त (स्पेशल सेल) नीरज ठाकुर ने बताया कि केंद्रीय एजेंसियों से इनपुट मिले थे कि एक पाक-प्रेरित और प्रायोजित संस्थाओं का समूह भारत में सीरियल आईईडी विस्फोटों को अंजाम देने की योजना बना रहा है। बम धमाकों के लिए सीमा पार से तैयारी की जा रही है। ये भी पता लगा कि ये आंतकियों के इस मॉड्यूल का नेटवर्क दिल्ली, यूपी व महाराष्ट्र समेत देश के कई हिस्सों में फैला हुआ है।

इन इनपुट्स को देखते हुए एसीपी ललित मोहन नेगी व हृदय भूषण की देखरेख में इंस्पेक्टर सुनीज राजैन, इंस्पेक्टर रविन्द्र जोशी व विनय पाल की विशेष टीम बनाई गई। देश में एक साथ कई जगह तलाशी अभियान चलाया गया। कई टीमों को मुंबई में महाराष्ट्र और लखनऊ, प्रयागराज, राय-बरेली, प्रतापगढ़, यूपी में एक साथ भेजा गया। 14 सितंबर, 2021 को मानव के साथ-साथ तकनीकी नोड्स के माध्यम से एकत्र की गई खुफिया जानकारी के आधार पर विभिन्न राज्यों में एक साथ छापेमारी की गई।
सबसे पहले अंडरवर्ल्ड से जुड़े सोशल नगर, मुंबई महाराष्ट्र निवासी जान मोहम्मद शेख उर्फ समीर कालिया (47) को राजस्थान के कोटा के पास से गिरफ्तार किया गया। जान मोहम्मद दिल्ली आ रहा था। इसके बाद ओखला जामिया नगर निवासी ओसामा उर्फ समी (22) को ओखला, दिल्ली से पकड़ा गया। इसके बाद बहराइच यपू निवासी मोहम्मद अबू बकर (23) को सराय काले खां, दिल्ली से, कारेली, इलाहाबाद यूपी निवासी जीशान कमर (28) को इलाहाबाद, यूपी से, बकशिका लखनऊ, यूपी निवासी मोहम्मद आमिर जावेद (31) को लखनऊ, यूपी से और राय बरेली, यूपी निवासी मूलचंद उर्फ साजू उर्फ लाला (47) को रायबरेली, यूपी से पकड़ा गया है।

इसे भी पढ़ें-  सरकार का बड़ा कदम: भारत में सीधे फंड भेजने से नौ विदेशी NGOs को रोका, पढ़ें आखिर क्यों लिया गया ये फैसला

इस ऑपरेशन में यूपी एएटीएस ने दिल्ली पुलिस का साथ दिया है। ओसामा व जीशान अप्रैल में पाकिस्तान ट्रेनिंग लेने गए थे। इन्होंने विस्फोटक बनाना व हथियार चलाना सीखा था। पूछताछ में पता चला है कि इस मॉड्यूल को एक स्लीपर सेल के संचालक से आरडीएक्स आधारित आईईडी, ग्रेनेड, पिस्तौल और कारतूस प्राप्त हुए थे और इन्हें सुरक्षित छिपाने के लिए यूपी भेजा गया था।

इसके बाद, अंडरवर्ल्ड ऑपरेटिव जन मोहम्मद शेख उर्फ समीर कालिया के साथ मूलचंद उर्फ साजू उर्फ लाला को पाक स्थित अनीस इब्राहिम ने दिल्ली में इसे प्राप्त करने का काम सौंपा। इन्हें दिल्ली और मुंबई और देश के अन्य हिस्सों में अन्य आतंकी गुर्गों को सौंपा जाना था। पाक-आईएसआई व अंडरवर्ल्ड अलग घटक हैं। दिल्ली पुलिस ने सभी आतंकियों को 14 दिन के पुलिस रिमांड पर लिया है।

इसे भी पढ़ें-  Lokayukta Raid: लोकायुक्‍त टीम ने पंचायत समन्वयक अधिकारी ओमप्रकाश राठौर को रिश्‍वत लेते पकड़ा

 

Advertisements