कुतिया के पिल्लों के जन्म पर किया गया कुआं पूजन, गांव में हुआ भोज, डीजे की धुन पर थिरके लोग

Advertisements

एक तरफ जहां श्रीनगर के बसौरा गांव में जहरीरी रोटिया खिलाने से 20 कुत्तों की मौत हो गई थी। जिसको लेकर पशु प्रेमियों में आक्रोश है। वहीं महोबा जिले के चरखारी ब्लॉक के सालट गांव में पशु प्रेमियों के लिए अच्छी खबर है। जहां एक कुतिया के पिल्ले का जन्म होने पर सोलह श्रंगार कर कुआ का पूजन कराया गया। साथ ही गांव के लोगों के लिए भोज का आयोजन किया गया। जिसमें पूरे गांव के लोगों ने बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया। कुआ पूजन की रस्म में ढोल, नगाड़े, डीजे की धुन पर लोग जमकर थिरके। महिलाओं ने भी झूमझूमकर डांस किया।

इसे भी पढ़ें-  Lokayukta Raid: लोकायुक्‍त टीम ने पंचायत समन्वयक अधिकारी ओमप्रकाश राठौर को रिश्‍वत लेते पकड़ा

चरखारी ब्लॉक के सालट गांव में जगभान कुशवाहा की पालतू कुतिया है। जिसके बच्चे होने पर गांव के लोगों ने मिलकर कुआ पूजन की रस्म कर अनोखी परंपरा कायम की। जिसमें गांव के लोगों का सहयोग रहा। गुरुवार की शाम मानो ऐसा लग रहा था कि किसी के घर बरात आई हो।

कुतिया के कानों में बालिया और महावर लगाकर सजाया गया। इसके बाद कुआ पूजन की रस्म अदा की गई। इसके बाद गांव के लोगों ने पूड़ी पकवान का भंडारा खाया। सालट गांव ने पशुओं के प्रति प्रेम दिखाकर सभी का दिल जीत लिया है जिसकी चारो तरफ चर्चा है। लोगों को संदेश दिया है कि पशुओं के साथ क्रूरता नहीं प्रेम करना चाहिए।

इसे भी पढ़ें-  नितिन गडकरी: केंद्रीय मंत्री ने वर्षों बाद खोला राज, बताया- क्यों पत्नी को बिना बताए ससुर के घर पर चलवा दिया था बुलडोजर?

 

Advertisements