निहत्थी महिलाओं से डरे हथियारबंद तालिबानी? विरोध दबाने को काबुल में बंद कर दी इंटरनेट सर्विस

Advertisements

अफगानिस्तान की राजधानी में बड़े पैमाने पर विरोध प्रदर्शन के बाद तालिबान ने काबुल के कई हिस्सों में इंटरनेट सेवाएं बंद कर दी हैं। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, इस्लामिक आतंकवादी समूह ने इलाके में भीड़ को रोकने के लिए इंटरनेट कनेक्शन काटने का फैसला किया है। रिपोर्ट में कहा गया है कि तालिबान खुफिया ने सोशल मीडिया के माध्यम से संदेश के प्रसार के डर से इंटरनेट अवरुद्ध करने का आदेश दिया है।

15 अगस्त को काबुल पर कब्जा करने के बाद तालिबान ने अफगानिस्तान में सत्ता पर कब्जा कर लिया था। हाल ही में, तालिबान नेताओं ने देश में एक अंतरिम सरकार के गठन की घोषणा की। तालिबान के शक्तिशाली निर्णय लेने वाले निकाय ‘रहबारी शूरा’ के प्रमुख मुल्ला हसन कार्यवाहक प्रधानमंत्री होंगे, जबकि मुल्ला अब्दुल गनी बरादर “नई इस्लामी सरकार” में उनके डिप्टी होंगे। तालिबान के प्रवक्ता जबीहुल्ला मुजाहिद ने एक संवाददाता सम्मेलन में इसकी जानकारी दी।

इसे भी पढ़ें-  Twitter In Action: पराग अग्रवाल के CEO पद संभालते ही एक्शन में ट्विटर, पर्सनल Photos-Videos को लेकर लगाए ये प्रतिबंध

 

इन विरोधों के बाद, अंतरिम तालिबान सरकार ने विरोध के लिए कुछ शर्तें जारी कीं। तालिबान के आंतरिक मंत्रालय द्वारा जारी विरोध की शर्तों के अनुसार, प्रदर्शनकारियों को अब विरोध प्रदर्शन करने से पहले तालिबान न्याय मंत्रालय से पूर्व अनुमति लेनी होगी।

 

 

Advertisements