मुहर्रम के बीच देश विरोधी नारे लगाने पर 4 अरेस्ट

Advertisements

उज्जैन। मुहर्रम पर्व (muharram festival 2021) को लेकर शहर (Ujjain) के  थाना जीवजीगंज क्षेत्र अंतर्गत गीता कॉलोनी में देर रात एकत्रित हुई अल्पसंख्यक समाज की भीड़ में कुछ असामाजिक तत्वों ने उत्पात मचा दिया, असमाजिक तत्वों में देश विरोधी नारे लगाकर माहौल बिगाड़ने की कोशिश की, जिसकी सूचना जैसे ही पुलिस को लगी जब तक भीड़ छट चुकी थी, लेकिन मौके पर पहुंची, पुलिस ने क्षेत्र में छावनी बना दी और मोर्चा संभाला, जिससे किसी प्रकार का माहौल शहर का खराब ना हो।

चुंकी सोशल मीडिया व हिन्दू संगठन द्वारा विरोध शुरू कर दिया गया था।  फिलहाल पुलिस ने पूरे मामले में वीडियो फुटेज व अन्य सबूतों के आधार पर 10 संदिग्धों  के विरुद्ध राजद्रोह और अशांति फैलाने का  मामला दर्ज कर 4 को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है।

इसे भी पढ़ें-  यह राक्षसी करतूत, इन्हें जीने का अधिकार नहीं,' 8 साल की बच्ची को रेप के बाद मारने वाले को जज ने सुनाई सजा-ए-मौत

सभी से पूछताछ जारी है व अन्य की तलाश में पुलिस जुटी है। आव्हान अखाड़े के महामंडलेश्वर ने इसे लोगो के विरुद्ध सजा ए मौत की मांग की, जिला पुलिस ने भी माहौल देखते हुए भारी पुलिस बल तैनात  (Ujjain Police) कर दिया गया है।

एसपी सत्येंद्र कुमार शुक्ल ने मामले पुष्टि करते हुए बताया कि जीवाजिगंज थाना क्षेत्र में देर रात 10 बजे करीब सूचना मिली थी कुछ लोगो ने भारत विरोधी नारे बाजी की है।

वीडियो फुटेज (Viral Video) व अन्य डिटेल के आधार ओर 10 के ख़िलाफ़ केस दर्ज कर 4 को गिरफ्तार किया है, जिनसे पुछताछ जारी है, पाकिस्तान समर्थंक नारे बाजी की गई थी।एडीजी (Ujjain ADG) योगेश देशमुख ने बताया की सभी आरोपियों के खिलाफ राजद्रोह सहित अन्य धाराओं में मामला दर्ज कर लिया गया है वीडियो से विवेचना की जा रही है घटना में आरोपियों की संख्या और बढ़ सकती है।

इसे भी पढ़ें-  दिल्ली में 2020 में हुए दंगे पूर्व नियोजित साजिश थी, यह पल भर के आवेश में नहीं हुए : हाईकोर्ट

आव्हान अखाड़े के महामंडलेश्वर आचार्य शेखर(अतुलेशानंद सरस्वती) ने विरोध जताते हुए कहा कि कल देर रात 11 बजे करीब निकास चौराहे पर जो तालिबानी व पाकिस्तान समर्थंक व भारत देश विरोधी नारे बाजी की गई ये देश विरोधियों का समर्थन है, इससे पहले इंदौर, खंडवा, बुरहानपुर, भोपाल से भी ऐसी सूचना आई जिस तरह से जेहाद फेल रहा है उसपर मप्र शासन को विचार करना चाहिए, ऐसे लोगो के विरुद्ध मौत की सजा होना चाहिए, उज्जैन जिला प्राशासन ने गिरफ्तारी कर बहुत अच्छा कार्य किया लेकिन कब तक सिर्फ गिरफ्तारी, जैसे तालिबान ने कब्जा किया वेसे ये भारत के झंडे को भी नही छोड़ेंगे एक दिन।।

Previous article
Advertisements