एसपी के सख्त निर्देश, अब पुलिसकर्मियों को सिंघम बनना पड़ेगा भारी

Advertisements

ग्वालियर। ग्वालियर के एसपी अमित सांघी ने एक आदेश जारी किया है और इस आदेश में उन्होंने यह साफ किया है कि किसी भी पुलिसकर्मी को गलत तरीके से शासकीय रिवॉल्वर या पिस्टल कमर में गलत तरीके से लगाना अनुशासनहीनता माना जाएगा और ऐसे अधिकारी-कर्मचारी पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

इसके साथ ही उन्होंने अत्यावश्यक कार्यों के अलावा बिना वर्दी के ड्यूटी करने पर भी पाबंदी लगा दी है।

सिंबा, दबंग और सिंघम जैसी फिल्मों से आज की पुलिस कुछ ज्यादा ही प्रभावित नजर आती है। कार्यशैली में भले ही उतनी ईमानदारी और पारदर्शिता ना हो लेकिन एक्शन पूरे फिल्मों जैसे, और इन्हीं में से एक है रिवॉल्वर या पिस्टल को गलत तरीके से कमर में लगा लेना।

इसे भी पढ़ें-  Bhopal Railway News: विवेक कुमार होंगे भोपाल रेल मंडल के नए सीनियर डीओएम, डा. मीना का तबादला

दरअसल रिवॉल्वर या पिस्टल को लगाए रखने के लिए बाकायदा कवर रहता है और उसे कमर के सहारे बांधा जाता है। लेकिन यह देखने में आ रहा है कि विशेषकर निचले स्तर के पुलिस कर्मचारी रिवॉल्वर को मनचाहे तरीके से कमर में लगा लेते हैं।

इसी को दृष्टिगत रखते हुए ग्वालियर के एसपी अमित सांघी ने अब बाकायदा एक निर्देश जारी किया है कि हर पुलिसकर्मी को शासकीय आर्म्स को निर्धारित प्रक्रिया के विपरीत बेल्ट में बगैर लेनयार्ड के रखना गलत है और अगर किसी ने भी ऐसा किया तो बिना कोई स्पष्टीकरण दिए उसके खिलाफ कठोर दंडात्मक कार्रवाई की जाएगी।

इसे भी पढ़ें-  New Aadarsh Gram Yojna: नई आदर्श ग्राम योजना से सात हजार गांवों में होंगे विकास कार्य

इसके साथ ही एसपी ने यह निर्देश भी दिए हैं कि किसी भी कर्मचारी को सिविल ड्रेस में ड्यूटी नहीं करनी होगी और अगर किसी विशेष अपराध में इस तरह की आवश्यकता है तो उसका उल्लेख बाकायदा रोजनामचा में किया जाना जरूरी होगा और इसकी सूचना वरिष्ठ अधिकारियों को दिया जाना भी अनिवार्य होगा। ऐसा नहीं करने वाले कर्मियों पर भी कार्रवाई के निर्देश एसपी ने दिए हैं। दरअसल पिछले दिनों एक तथाकथित सटोरिए कि जिस तरह से पुलिस हिरासत में मौत हुई और उसे जिस तरह से पुलिस स्क्वाड के नाम पर बिना वर्दी पुलिसकर्मी उठाकर लाए, ऐसी घटनाओं की पुनरावृत्ति रोकने के लिए पुलिस अधीक्षक ने यह कदम उठाया है।

Advertisements