शिवपुरी जिले के करैरा में फूटा तालाब स्थित पुराना बस स्टैंड पर इंडिया नंबर वन एटीएम स्थित है। यहां पर चोरों ने मंगलवार-बुधवार की दरमियानी रात करीब ढा़ई बजे डायनामाइट से विस्फोट कर दिया। एटीएम में इस तरह से चोरी का यह पहला मामला है। इसके पहले तक बदमाश एटीएम मशीन को काटने या फिर उठाकर ले जाने का प्रयास करते रहे हैं। इस बार चाेराें के हाैंसले इस कदर बढ़ गए कि उन्होंने एटीएम में डायनामाइट लगाकर विस्फोट कर दिया। ब्लास्ट की जानकारी लगते हुए कुछ ही देर में पुलिस भी मौके पर पहुंच गई। यहां पुलिस को करीब सात लाख रुपये बरामद हुए हैं। पुलिस काे 6 लाख 72 हजार 500 रुपये के नोट सही सलामत मिले हैं। वहीं 28 हजार रुपए के कटे-फटे नोट मिले हैं। पुलिस ने एटीएम का संचालन करने वाली कंपनी से भी जानकारी मांगी है। कंपनी के कर्मचारियों के अनुसार सर्वर में देखकर बताया जा सकेगा कि एटीएम में कुल कितने रुपये थे और इसमें से कितने रुपये बदमाश ले गए। पुलिस ने आसपास के सभी सीसीटीवी फुटेज भी खंगालने शुरू कर दिए गए हैं। बदमाशाें ने डायनामाइट से ब्लास्ट कर पूरे क्षेत्र में सनसनी फैला दी है। पुलिस इस बात का भी पता लगाने में जुटी है कि डायनामइट मिला कहां से था।

ट्रांसफार्मर से ली बिजली, उसमें भी हुआ विस्फोटः डायनामाइट से ब्लास्ट करने के लिए बिजली के कनेक्शन की जरूरत होता है। बदमाशों ने पास में ही मौजूद ट्रांसफार्मर से बिजली की सप्लाई ली थी। जैसे ही एटीएम मशीन में ब्लास्ट हुआ तो तारों की वजह से पास में ही माैजूद ट्रांसफार्मर में भी ब्लास्ट हो गया था। इसकी जांच के लिए पुलिस की एफएसएल टीम भी मौके पर पहुंच गई है।

इसे भी पढ़ें-  नवाब मलिक को समीर वानखेड़े का जवाब, खुद को बताया मुस्लिम मां और हिंदू पिता का बेटा

खनियांधाना में भी हो चुका है ब्लास्टः करीब एक साल पहले इसी तर्ज पर खनियांधाना में एटीएम लूटने की कोशिश की जा चुकी है। इसमें दो लोग बोतल में बारूद और बिजली के कुछ तार लेकर एटीएम लूटने के लिए आए थे। यहां भी बदमाशों ने एटीएम को उड़ाने की कोशिश की थी, लेकिन कामयाब नहीं हो सके थे। एटीएम में बड़ा ब्लास्ट नहीं हो पाया था। उस समय पास में ही रहने वाले खनियांधाना के तहसीलदार और चौकीदार ने घटना में रुपये लूटने से बचा लिए थे।

हाइवे पर बिक रहा डायनामाइट, राजस्थान के तस्कर सक्रियः करैरा से होकर गुजरने वाले हाइवे पर बिना लाइसेंस और सुरक्षा के खुलेआम डायनामाइट बेचने का काम चल रहा है। सूत्रों के अनुसार राजस्थान से जुड़े कुछ तस्कर यहां डायनामाइट बेचते हैं। स्थानीय माफिया इसका इस्तेमाल पत्थर की खदानों में ब्लास्ट करने के लिए करते हैं। कई जगहों पर जिलेटिन तक आसानी से उपलब्ध हो जाता है।

इसे भी पढ़ें-  सनकी आशिक एक तरफा प्यार में पहले महिला को कुल्हाड़ी से काटा, मौत के बाद घंटों शव से लिपटा रहा

नहीं था सिक्युरिटी गार्डः इंडिया नंबर वन के एटीएम पर काेई सिक्युरिटी गार्ड तक नहीं था। इसी वजह से बदमाशाें ने बड़े आराम से न सिर्फ एटीएम में डायनामाइट लगाया, बल्कि उसे उड़ा भी दिया। यदि धमाके की आवाज से लाेग घराें से बाहर नहीं निकले हाेते ताे शायद चाेर कैश लेकर भागने में भी सफल हाे गए हाेते।