ISIS में शामिल होने के लिए केरल से भागी थी फातिमा, मां ने लगाई अफगानिस्तान से वापस लाने की गुहार

Advertisements

अफगानिस्तान पर अब तालिबान का राज है। अशरफ गनी देश छोड़कर भाग चुके हैं। इस परिवर्तन की गूंज भारत तक में सुनाई दे रही है। तिरुवनंतपुरम की रहने वाली और निमिशा फातिमा की मां के बिंदू ने भारत सरकार से अपनी बेटी और चार साल के नाती को अफगानिस्तान से वापस लाने की गुहार लगाई है।

इंडिया टुडे की एक रिपोर्ट के मुताबिक, निमिषा फातिमा ने तीन अन्य महिलाओं के साथ कुछ साल पहले कथित तौर पर आतंकवादी समूह इस्लामिक स्टेट (आईएस) में शामिल होने के लिए केरल छोड़ दिया था। सभी चार महिलाओं को तब 2019 में अफगानिस्तान में कैद कर दिया गया था।

इसे भी पढ़ें-  Bhopal धार्मिक भावनाएं भड़काने के आरोप में हेडमास्टर गिरफ्तार

अब यह अनुमान लगाया जा रहा है कि जेल से रिहा होने के बाद केरल की चार महिलाएं काबुल में फंसी हुई हैं। तालिबान द्वारा रविवार को अफगानिस्तान की राजधानी काबुल पर कब्जा करने के बाद जेलब्रेक हुआ है। इसमें भारी संख्या में कैदी जेल छोड़कर भाग गए हैं। निमिषा फातिमा की मां के बिंदू ने कहा कि उन्हें इस बात की पुष्टि मिली है कि जेल से रिहा होने वालों में उनकी बेटी और नाती भी शामिल हैं।

के बिंदू अब केंद्र सरकार से हस्तक्षेप करने और अपनी बेटी और नाती को भारत वापस लाने के प्रयासों में तेजी लाने का अनुरोध कर रही है। के बिंदू ने कहा, “उन्हें भारत वापस आने दें और यहां देश के कानून का सामना करें।”

इसे भी पढ़ें-  बड़ी खबर: पाकिस्‍तानी ड्रोन ने अमृतसर के पास गिराई 6 करोड़ रुपए की 1.1 किलोग्राम हेरोइन, BSF ने की गोलीबारी

अफगानिस्तान की जेल कैसे पहुंची निमिषा फातिमा?
निमिषा फातिमा ने भारत छोड़ दिया और शुरुआत में ईरान पहुंची जब वह कथित तौर पर आईएसआईएस में शामिल हो गई। बाद में, वह अफगानिस्तान चली गई। उसके पति ISIS के ठिकानों पर अमेरिकी हवाई हमले में मारे गए थे। अमेरिका के नेतृत्व वाले हमलों के परिणामस्वरूप, महिलाओं और बच्चों सहित 408 लोगों ने 2019 में अफगान सरकार के सामने आत्मसमर्पण कर दिया था।

इसके बाद अफगान सरकार ने भारत से उसे और तीन अन्य महिलाओं को केरल से वापस ले जाने के लिए कहा। उसकी मां भी यही मांग कर रही है, लेकिन केंद्र सरकार ने अभी तक इस पर कोई फैसला नहीं लिया है।

इसे भी पढ़ें-  बड़ी खबर: कटनी के बरही TI द्वारा पशु चिकित्सक से अभ्रदता का मामला प्रदेश के गृहमंत्री तक पहुंचा

के बिंदू अब केंद्र सरकार से हस्तक्षेप करने और अपनी बेटी और नाती को भारत वापस लाने के प्रयासों में तेजी लाने का अनुरोध कर रही है। के बिंदू ने कहा, “उन्हें भारत वापस आने दें और यहां देश के कानून का सामना करें।”

 

Advertisements