तीसरी लहर की दस्तक? बेंगलुरु में पांच दिनों में 242 बच्चे कोरोना पॉजिटिव, विशेषज्ञों ने दी चेतावनी

Advertisements

कोरोना वायरस की दूसरी लहर ने देशभर में कहर ढा दिया था। इसके बाद विशेषज्ञों ने तीसरी लहर को लेकर चेतावनी दी थी और कहा था कि इसका सबसे ज्यादा असर बच्चों पर देखने को मिलेगा।

अब ऐसा लग रहा है कि देश में तीसरी लहर ने अपनी दस्तक देदी है। बेंगलुरु में पिछले पांच दिनों में कम-से-कम 242 बच्चे कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। स्वास्थ्य अधिकारियों ने चेतावनी दी है कि आने वाले समय में ये आंकड़े बढ़ सकते हैं। इन मामलों को तीसरी लहर की दस्तक के रूप में देखा जा रहा है।

कोरोना वायरस की दूसरी लहर ने देशभर में कहर ढा दिया था। इसके बाद विशेषज्ञों ने तीसरी लहर को लेकर चेतावनी दी थी और कहा था कि इसका सबसे ज्यादा असर बच्चों पर देखने को मिलेगा।

इसे भी पढ़ें-  सुषमा, सोनिया से मुलायम तक; अमरिंदर ने फिर फोड़ा फोटो बम, पूछा- क्या इन सबके ISI से संबंध हैं?

अब ऐसा लग रहा है कि देश में तीसरी लहर ने अपनी दस्तक देदी है। बेंगलुरु में पिछले पांच दिनों में कम-से-कम 242 बच्चे कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। स्वास्थ्य अधिकारियों ने चेतावनी दी है कि आने वाले समय में ये आंकड़े बढ़ सकते हैं। इन मामलों को तीसरी लहर की दस्तक के रूप में देखा जा रहा है।

मंगलवार को कर्नाटक में कोरोना के 1,338 नए मामले सामने आए और 31 लोगों की मौत हो गई। विशेषज्ञ पहले की चेतावनी दे चुके हैं कि कोरोना की तीसरी सबसे ज्यादा बच्चों को प्रभावित कर सकती है। ऐसे में बच्चों का इतनी ज्यादा मात्रा में संक्रमित पाया जाना डराने वाला है।

बृहत बेंगलुरु महानगर पालिक (बीबीएमपी) ने कहा कि पिछले पांच दिनों में 19 वर्ष से कम उम्र के 242 बच्चों ने सकारात्मक परीक्षण किया। विशेषज्ञों ने चेतावनी दी है कि कोविड-19 की तीसरी लहर शुरू हो चुकी है।

इसे भी पढ़ें-  Theft Of Bicycle Belong To Preseident Of Vidhan Sabha: साइकिल यात्रा से पहले गायब हुई विधानसभा अध्यक्ष की साइकिल, ढूंढने में जुटी GRP

आंकड़ों के अनुसार, शहर में पिछले पांच दिनों में 9 साल से कम उम्र के 106 बच्चेऔर 9 से 19 साल के बीच के 136 बच्चे कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। स्वास्थ्य विभाग ने चेतावनी दी है कि आने वाले दिनों में बच्चों के पॉजिटिव केस बढ़ सकते हैं।

स्वास्थ्य विभाग के एक अधिकारी ने कहा कि यह संख्या कुछ दिनों में “तीन गुना” हो जाएगी जो “एक बड़ा खतरा है।” अधिकारी ने कहा, “हम बस इतना कर सकते हैं कि अपने बच्चों को घर के अंदर रखकर इस वायरस से बचाएं। बड़ों की तुलना में बच्चों में ज्यादा इम्युनिटी नहीं होगी। माता-पिता से अनुरोध किया जाता है कि वे बच्चों को घर के अंदर रखें और सभी कोविड -19 मानदंडों का पालन करें।

इसे भी पढ़ें-  IND vs PAK, T20 World Cup 2021: पाकिस्तान ने जीता टॉस , विराट ने बाहर किए ये 4 खिलाड़ी, जानिए भारत-पाक की Playing 11

कर्नाटक सरकार ने पहले ही सभी जिलों में नाइट और वीकेंड कर्फ्यू का आदेश दिया है, इसके अलावा केरल-कर्नाटक, महाराष्ट्र-कर्नाटक सीमाओं पर प्रवेश प्रतिबंधित कर दिया गया है। 72 घंटे से कम का आरटीपीसीआर टेस्ट दिखाने वालों को ही राज्य में प्रवेश की अनुमति होगी।

कर्नाटक पिछले एक महीने में लगभग 1,500 दैनिक नए मामले दर्ज कर रहा है, जिसके मद्देनजर नए मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई ने वैक्सीन की खुराक को लगभग 65 लाख से बढ़ाकर 1 करोड़ प्रति माह करने का वादा किया है। सूत्रों के मुताबिक, सरकार 16 अगस्त से आंशिक रूप से लॉकडाउन लगा सकती है।

Advertisements