मार्स ड्यून अल्फा: धरती पर ऊब गए हैं तो मंगल की सैर करिए, नासा ने लाल ग्रह जैसा निवास स्थान किया तैयार

Advertisements

नई दिल्ली। अगर आप धरती पर रहते-रहते ऊब गए हैं और कुछ नयापन चाहते हैं तो अमेरिकी स्पेस एजेंसी नासा आपको सुनहरा मौका दे रही है। नासा पहले मानव मंगल मिशन की तैयारी में है और इसके लिए अमेरिकी एजेंसी ने धरती पर मंगल ग्रह के वातावरण जैसा एक विशेष निवास स्थान तैयार किया है। इसमें एक साल के लंबे मिशन के लिए चालक दल के चार सदस्यों की भर्ती कर रहा है और इसके लिए इच्छुक लोगों से शुक्रवार से आवेदन लेना भी शुरू कर दिया है।

मार्स ड्यून अल्फा: मंगल ग्रह जैसा निवास स्थान

अमेरिका के ह्यूस्टन स्थित जानसन स्पेस सेंटर की एक इमारत में 3डी-प्रिंटर से 1,700 वर्ग फीट का यह मंगल ग्रह जैसा निवास स्थान तैयार किया गया है। ‘मार्स ड्यून अल्फा’ नाम के इस विशेष निवास में चार लोगों को एक साल तक रखा जाएगा। इस दौरान मंगल ग्रह के वातावरण में मानव पर पड़ने वाले प्रभाव का अध्ययन किया जाएगा, ताकि असली मंगल ग्रह पर मानव मिशन भेजने से पहले इन चुनौतियों से निपटने के उपाय तलाशे जा सकें।

इसे भी पढ़ें-  दिल्ली में 2020 में हुए दंगे पूर्व नियोजित साजिश थी, यह पल भर के आवेश में नहीं हुए : हाईकोर्ट

नासा मंगल पर भावी मिशन की वास्तविक चुनौतियों की तैयारी में

अमेरिकी स्पेस एजेंसी ने एक बयान में कहा है कि मंगल पर भावी मिशन की वास्तविक चुनौतियों की तैयारी में, नासा यह अध्ययन करेगी कि अत्यधिक उत्साहित व्यक्तियों पर जमीन पर तैयार किए गए मंगल ग्रह जैसे कठोर वातावरण में लंबे समय तक रहने पर क्या प्रभाव पड़ता है।

नासा ने कहा- सीमित संसाधनों और पर्यावरण संबंधी अन्य दबावों का होगा अध्ययन

नासा ने यह भी कहा है कि इसमें सीमित संसाधनों, उपकरणों की विफलता, संचार में देरी और पर्यावरण संबंधी अन्य दबावों का अध्ययन किया जाएगा। इसमें चालक दल के सदस्यों को अंतरिक्ष में चहलकदमी, वैज्ञानिक शोध, वर्चुअल वास्तविकता और रोबोटिक नियंत्रण का उपयोग और संचार का आदान-प्रदान जैसे कार्य सौंपे जा सकते हैं। इससे भावी मानव मंगल मिशन में आने वाली दिक्कतों और उनके समाधान को विकसित करने में मदद मिलेगी।

Advertisements