सुशील कुमार के बाद कुश्ती में रजत पदक जीतने वाले दूसरे खिलाड़ी बने रवि, जानिए इनके बारे में सब कुछ

Advertisements

भारतीय पहलवान रवि कुमार दहिया भले ही ओलंपिक में स्वर्ण से चूक गए, लेकिन उन्होंने रजत पदक के साथ भारत का नाम रोशन कर दिया है। रवि को कुश्ती के 57 किलोग्राम भारवर्ग के फाइनल में दो बार के वर्ल्ड चैंपियन रूस के जावुर युगुऐव से हारने के बाद रजत पदक से संतोष करना पड़ा।

भारत को रवि से गोल्ड की काफी उम्मीद थी, क्योंकि भारत की ओर से किसी खिलाड़ी ने 12 साल से स्वर्ण पदक नहीं जीता था। इससे पहले शूटिंग में अभिनव बिंद्रा ने 2008 बीजिंग ओलंपिक में स्वर्ण पदक जीता था।

रूस के सर्वश्रेष्ठ पहलवान से हारे
रवि को 2018 और 2019 वर्ल्ड चैंपियनशिप विजेता रह चुके युगुऐव से हार का सामना करना पड़ा।

इसे भी पढ़ें-  राजनाथ सिंह ने खोला PM मोदी व CM योगी की वायरल फोटो का राज, बताया कंधे पर हाथ रखकर क्या कहा...

युगुऐव रूस से आने वाले सर्वश्रेष्ठ पहलवानों में से एक माने जाते हैं। उन्होंने अब तक करियर में 16 अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में 15 पदक अपने नाम किए हैं। इसमें 13 स्वर्ण पदक भी शामिल हैं।

रवि ने सेमीफाइनल में आखिरी समय में पासा पलटा
इससे पहले चौथी वरीयता प्राप्त रवि दहिया ने सेमीफाइनल में कजाकिस्तान के नूरीस्लाम को चित करके फाइनल में जगह बनाई थी। सेमीफाइनल में रवि एक समय 8 पॉइंट से पीछे चल रहे थे। भारतीय खेल प्रेमी उम्मीदें हारने लगे थे, लेकिन आखिरी वक्त पर रवि ने कजाक पहलवान को चित कर मुकाबले से ही बाहर कर दिया। उन्हें विक्ट्री बाय फॉल नियम के तहत विजेता करार दिया गया था।

इसे भी पढ़ें-  Tips to Get Rid of Constipation: सर्दी का मौसम और कब्ज की समस्या, जानिए किस तरह करें उपचार

नूरीस्लाम के काटने का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल
इस मैच के खत्म होने के बाद सोशल मीडिया पर एक वीडियो तेजी से वायरल हुआ। इसमें नूरीस्लाम मैच के दौरान पहलवान रवि की बाजू पर काटते हुए नजर आ रहे थे। दरअसल, मैच की शुरुआत में नूरीस्लाम आसानी से मैच जीत रहे थे। कुछ देर बाद ही रवि ने जोरदार वापसी की और मैच का पासा ही पलट दिया। इससे घबराए नूरीस्लाम ने उनकी बाजू में दांत गड़ाने शुरू कर दिए, लेकिन रवि ने दर्द के बावजूद अपना दांव ढीला नहीं पड़ने दिया।

2020 और 2021 एशियन चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक जीता
रवि और युगुऐव, दोनों इससे पहले 2019 वर्ल्ड चैंपियनशिप में भिड़ चुके हैं। तब रूसी रेसलर ने भारतीय पहलवान को 6-4 से हराया था। रवि को यहां कांस्य पदक से संतोष करना पड़ा था। रवि ने 2020 और 2021 एशियन चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक अपने नाम किया था। वहीं, 2018 अंडर-23 चैंपियनशिप में रवि रजत पदक जीतने में कामयाब हुए थे।

इसे भी पढ़ें-  MP: पहली बार सहकारी बैंकों में सीइओ की सीधे होगी नियुक्ति

 

Advertisements