भारतीय हॉकी टीम ने रचा इतिहास:1972 के बाद पहली बार सेमीफाइनल में जगह बनाई; क्वार्टर फाइनल में अंग्रेजों को हराया

Advertisements

भारतीय हॉकी टीम ने इतिहास रच दिया है। 1980 के बाद टीम पहली बार टॉप-4 में पहुंच गई है। क्वार्टर फाइनल में भारत ने ग्रेट ब्रिटेन को 3-1 से हराया। टीम इंडिया के लिए दिलप्रीत सिंह ने 7वें, गुरजंत सिंह ने 16वें और हार्दिक सिंह ने 57वें मिनट में गोल दागा। सेमीफाइनल में अब टीम इंडिया का सामना बेल्जियम से होगा।

टीम इंडिया 1980 में गोल्ड मेडल अपने नाम किया था। इसके बाद से टीम 2016 रियो ओलिंपिक तक कभी टॉप-4 में नहीं पहुंच पाई थी। 8 बार की ओलिंपिक चैंपियन भारतीय टीम ने एक बार इतिहास दोहराया है।

1972 के बाद पहली बार पूल लेग में 4 मैच जीते
टीम इंडिया ने 1972 के बाद पहली बार है जब भारतीय टीम ने पूल स्टेज में 4 या इससे ज्यादा मुकाबले जीते हैं। 1972 ओलिंपिक में भारत ने पूल स्टेज में 7 में से 5 मैच जीते थे। इसके बाद 2016 ओलिंपिक तक भारत ग्रुप स्टेज में 3 से ज्यादा मैच नहीं जीत पाया। 1984 से 2016 तक तो भारतीय टीम ग्रुप स्टेज में कभी 2 से ज्यादा मैच नहीं जीत पाई थी।

इसे भी पढ़ें-  नितिन गडकरी: केंद्रीय मंत्री ने वर्षों बाद खोला राज, बताया- क्यों पत्नी को बिना बताए ससुर के घर पर चलवा दिया था बुलडोजर?

पुरुष हॉकी में भारत ने 8 गोल्ड मेडल जीते
भारत ने ओलिंपिक में सबसे ज्यादा मेडल पुरुष हॉकी में जीते हैं। टीम ने 1928, 1932, 1936, 1948, 1952, 1956, 1964 और 1980 ओलिंपिक में गोल्ड मेडल जीता था। इसके अलावा 1960 में सिल्वर और 1968 और 1972 में ब्रॉन्ज मेडल अपने नाम किया था। 1980 मॉस्को ओलिंपिक के बाद भारत ने हॉकी में कोई मेडल नहीं जीता है।

Advertisements