90 हजार लेकर दिव्यांग से कराई शादी, रात को भागी दुल्हन

Advertisements

भिंड । गोरमी थाना क्षेत्र कचनाव में रहने वाले दिव्यांग से शादी के नाम पर 92 हजार रुपये ठगने का मामला सामने आया है। आरोपितों ने रुपये लेकर बिना मुहूर्त के दिव्यांग की शादी करा दी।

रात के समय दुल्हन जब छत के रास्ते से भाग गई, लेकिन जब गश्त कर रही पुलिस ने महिला को टोका तो पूरा मामला निकलकर सामने आ गया। पुलिस ने इस मामले में महिला सहित दो युवकों को भी गिरफ्तार किया है।

 

कचनाव रोड वार्ड क्रमांक तीन में रहने वाले 29 वर्षीय सोनू पुत्र रमेश चंद्र जैन एक पैर से दिव्यांग है। सोनू का संपर्क ग्वालियर में समाधिया कॉलोनी के रहने वाले ऊदल खटीक से हुआ।

इसे भी पढ़ें-  कटनी जीआरपी की अमानवीय हद, पंचनामा के लिए अस्पताल से स्ट्रेचर पर घसीटते हुए स्टेशन मंगवाई लाश

ऊदल ने शादी के लिए एक लाख रुपये खर्च आने की बात कही। इसके बाद 90 हजार रुपये में सौदा तय हुआ।

27 जुलाई को ऊदल तीन साथी जितेंद्र रत्नाकर निवासी जनकगंज, अरुण खटीक निवासी भितरवार और एक अन्य के साथ आए।

इस दौरान वह 40 वर्षीय महिला अनीता को भी लाए। ऊदल 90 हजार रुपये लेकर चला गया। वहीं, अनीता और दो साथी वहीं रुक गए। इसके बाद विधि विधान से शादी की रस्में पूरी की गईं।

अनीता ने जितेंद्र को अपना भाई और अरुण को रिश्तेदार बताया। दोनों ने कहा हमें रात में रुकना है, सुबह चले जाएंगे। उन्होंने घर के बाहर सोने की इच्छा जताई।

इसे भी पढ़ें-  7th pay Commission Pension: रिटायरमेंट के साथ मिलेगी सातवें वेतन आयोग के हिसाब से पेंशन, इस राज्य सरकार ने लिया बड़ा फैसला

रात करीब 12 बजेे अनीता ने सोनू से कहा, मेरी तबीयत ठीक नहीं है। छत पर जाना चाहती हूं। यह कहकर वो छत पर चली गई। इस दौरान सभी लोग सो रहे थे।

अनीता छत के रास्ते नीचे उतर गई। वह अपने साथियों के साथ भागने की फिराक में थी, तभी गश्त कर रहे पुलिसकर्मियों ने महिला को टोक दिया।

एक दिन की दुल्हन बनने के लिए थे पांच हजार

पुलिस ने जब अनीता से पूछताछ की तो उसने बताया कि वह पहले से शादीशुदा है। उसने अपने पति से तलाक ले लिया। उसका 15 साल का बेटा भी है। उसे एक दिन की दुल्हन बनने के 5 हजार रुपये में सौदा तय हुआ था। इसी तरह, 5-5 हजार मिलने की बात आरोपित जितेंद्र और अरुण द्वारा बताई जा रही हैं। थाना प्रभारी मनोज राजपूत का कहना है, गिरोह के दो युवक व महिला को पकड़ लिया है। दो आरोपित फरार हैं।

इसे भी पढ़ें-  Lokayukta Raid: लोकायुक्‍त टीम ने पंचायत समन्वयक अधिकारी ओमप्रकाश राठौर को रिश्‍वत लेते पकड़ा

इस पूरे प्रकरण में मास्टरमाइंड ऊदल है। जिसकी तलाश की जा रही है। ऊदल सिंह खटीक निवासी समाधिया कालोनी ग्वालियर, जितेंद्र पुत्र परमानंद रत्नागर निवासी जनकगंज कदम साहब का बाड़ा ग्वालियर, अरुण पुत्र हरी खटीक निवासी काली माता के पास वार्ड क्रमांक 9 भितरवार, अनीता निवासी ग्वालियर और एक अज्ञात के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है।

Advertisements