तालिबान का कहर, अल्लाहू अकबर कहकर 22 निहत्थे अफगान कमांडोज को गोलियों से भूना

Advertisements

अमेरिकी सेना की अफगानिस्तान से वापसी के बाद से ही तालिबान ने देश के बड़े हिस्से पर कब्जे का दावा किया है। देश के कई हिस्सों में तालिबान की हिंसा जारी है जिसमें पाकिस्तानी आतंकियों का भी साथ मिल रहा है। इस हिंसा के बीच एक भयावह वीडियो सामने आया है जिसमें तालिबानी आतंकियों को 22 निहत्थे अफगानिस्तानी कमांडोज को गोलियों से भूनते देखा जा सकता है।

सीएनएन’ ने इस निर्मम हमले का वीडियो जारी किया है। सीएनएन की रिपोर्ट में बताया गया है कि इस हत्याकांड को अफगानिस्तान के फरयाब प्रांत में इसी साल जून माह में अंजाम दिया गया था। रिपोर्ट के मुताबिक, अफगानिस्तान स्पेशल फोर्स के ये सभी सैनिक शांतिपूर्वक आत्मसमर्पण के लिए आगे बढ़ रहे थे और तभी तालिबानियों ने ‘अल्लाहू अकबर’ कहते हुए गोलियां चलानी शुरू कर दी जिसमें 22 सैनिकों की जान चली गई।

इसे भी पढ़ें-  Bhopal Suicide Case: भोपाल में सूदखोरों से परेशान होकर जहर खाने वाले परिवार के पांचवे सदस्‍य की भी मौत

यह निर्मम हत्या 16 जून को फरयाब प्रांत के दवलात अबाद में की गई थी। यह इलाका अफगानिस्तान और तुर्कमेनिस्तान की सीमा के पास है। सीएनएन ने दावा किया है कि उसने कई प्रत्यक्षदर्शियों से बात कर वीडियो को वेरिफाई किया है।

प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक, दवलात अबाद पर कब्जे के लिए हुई भीषण हिंसा के दौरान अफगान कमांडोज के पास गोला-बारूद, गोलियां खत्म हो गई थीं और वे हर तरफ से तालिबानी लड़ाकों से घइर चुके थे। इसके बाद कमांडोज को आत्मसमर्पण करने के लिए कहा गया और जैसे ही उन लोगों ने अपने हथियार गिराए उन्हें सड़क के बीचोंबीच गोलियों से भुन दिया गया।

इसे भी पढ़ें-  IAF 2021 Recruitment: भारतीय वायुसेना में 317 पदों पर वैकेंसी, ये है आयु सीमा और योग्यता, ऐसे करें आवेदन

 

रेड क्रॉस ने पुष्टि की है कि 22 कमांडोज के शव बरामद हो चुके हैं। हालांकि, तालिबान ने सीएनएन से बातचीत में वीडियो को फर्जी बताया और अपने खिलाफ सरकार का प्रॉपेगेंडा बताया है। तालिबान प्रवक्ता ने कहा कि अभी भी उनके कब्जे में 24 कमांडोज हैं, लेकिन इसकी पुष्टि के लिए कोई सबूत नहीं पेशकिया। हालांकि, अफगानिस्तान रक्षा मंत्रालय ने कहा कि तालिबान ने कमांडोज को मार दिया है।

 

Advertisements