EPF Alert: कोरोना या दूसरी खतरनाक बीमारी होने पर 24 घंटे के अंदर मिलेंगे 1 लाख रुपए, जानिए पूरी डिटेल

Advertisements

EPF Alert: कर्मचारी भविष्य निधि संगठन के नए नियमों के अनुसार कोई भी कर्मचारी मेडिकल इमरजेंसी की हालत में अपने PF अकाउंट से 1 लाख रुपये तक की रकम ले सकता है। ईपीएफओ पहले शादी, पढ़ाई या मेडिकल के लिए पीएफ अकाउंट से पैसे निकालने का ऑप्शन देता था। लेकिन, अब कई तरह की जरूरत पड़ने पर इससे पैसे निकाले जा सकते हैं। कोरोनाकाल में EPFO ने मेडिकल इमरजेंसी के लिए पैसे निकालने के नियमों में बदलाव किया है। अब कोरोना या दूसरी खतरनाक बीमारी होने पर कर्मचारी 24 घंटे के अंदर एडवांस में 1 लाख रुपये तक निकाल सकते हैं।

इसे भी पढ़ें-  जम्मू-कश्मीर में 14 ठिकानों पर NIA की छापेमारी, ड्रोन हमले को लेकर कर रही जांच

EPFO के इस नए नियम के आने के बाद बीमार होने पर किसी कर्मचारी को लोन या दूसरी जगह से कर्ज लेने के लिए परेशान नहीं होना पड़ेगा। बीमारी की पुष्टि होते ही कर्मचारी के परिवार वाले EPF के पैसे के लिए आवेदन कर देंगे और कुछ घंटे के अंदर ही 1 लाख रुपये मिल जाएंगे। EPFO ने 1 जून को जारी सर्कुलर में यह जानकारी दी थी। आइए जानते हैं इस सुविधा का लाभ लेने के लिए क्या शर्तें पूरी करना जरूरी है।

  1. अगर मरीज किसी सरकारी/सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रम या केंद्र सरकार स्वास्थ्य योजना के तहत आने वाले किसी अस्पताल में भर्ती है तो मेडिकल इमरजेंसी की स्थिति में उसे 1 लाख रुपये की मदद दी जा सकती है।

  2. वहीं प्राइवेट अस्पताल में भर्ती मरीजों के मामले में यदि संबंधित अधिकारी यह मानते हैं कि यह मामला छूट दिए जाने के योग्य है तो कर्मचारी को तुरंत 1 लाख रुपये दिए जाएंगे।

  3. EPFO के सर्कुलर के अनुसार कर्मचारी या उसके परिवार के किसी सदस्य को मेडिकल एडवांस की मांग के लिए एक लेटर जमा करना होगा। इसके साथ मरीज और हॉस्पिटल की जानकारी देना भी जरूरी है।

  4. मेडिकल एडवांस के लिए आवेदन मिलने पर संबंधित विभाग को उसी दिन पैसा देना होगा। यदि उस दिन ऑफिस बंद है तो अगले दिन जब भी ऑफिस खुलेगा उसी समय पैसा मरीज को देना होगा।

  5. मेडिकल एडवांस का पैसा या तो कर्मचारी के सैलरी अकाउंट में जमा किया जाएगा या फिर सीधे हॉस्पिटल को भेजा जाएगा। मरीज के परिजनों की सुविधा के हिसाब से इनमें से कोई एक विकल्प चुना जा सकता है।

  6. मेडिकल एडवांस का लाभ लेने वाले कर्मचारी को ठीक होने के 45 दिन के अंदर पूरा बिल जमा करना होगा।7. नए नियम CS और CGSH के अंदर आने वाले कर्मचारियों के लिए हैं।

Advertisements