मोदी मंत्रिमंडल: जगह नहीं मिलने पर बाबुल सुप्रियो का छलका दर्द- इस्तीफा मांगने का तरीका सही नहीं

Advertisements

मोदी कैबिनेट का बुधवार को विस्तार हो गया। नए मंत्रिमंडल में 43 लोगों को जगह मिली है। इनमें 15 नेताओं ने कैबिनेट मंत्री और 28 राज्य मंत्री पद की शपथ ली है। इधर मंत्रिमंडल में जगह नहीं मिलने और मंत्रिपद से इस्तीफा देने को लेकर कई सांसद दुखी हैं। भाजपा सांसद बाबुल सुप्रियो ने कैबिनेट विस्तार से पहले फेसबुक पोस्ट में कहा कि वे इस बात से बेहद खुश हैं कि कार्यकाल में उन पर भ्रष्टाचार का कोई दाग नहीं लगा। उन्होनें केंद्रीय मंत्रिमंडल शामिल होने वाले बंगाल के कुछ नेताओं को बधाई भी दी। इसके साथ ही उन्होनें कहा “मैं निश्चित रूप से अपने लिए दुखी हूं”

इसे भी पढ़ें-  केन्द्र सरकार का अहम फैसला, मेडिकल एजुकेशन में OBC को 27% और EWS को 10% आरक्षण

बाबुल सुप्रियो ने फेसबुक पर लिखा “हां, जब धुआं होता है तो कहीं आग जरूर लगती है। आज दोस्तों का फोन कॉल नहीं ले पार रहा हूं, इसलिए मैंने सोचा कि इसे खुद ही बता दूं। हां, मैंने काउंसिल ऑफ मिनिस्टर्स से इस्तीफा दे दिया है (मुझे पहले ‘इस्तीफा देने के लिए कहा गया था, लेकिन यह कहने का सही तरीका नहीं हो सकता )।

भ्रष्टाचार का नहीं लगा आरोप- सुप्रियो
सुप्रियो ने आगे लिखा “मैं माननीय प्रधानमंत्री को धन्यवाद देता हूं कि उन्होंने मुझे अपने मंत्रिपरिषद के सदस्य के रूप में अपने देश की सेवा करने का मौका दिया। मुझे बेहद खुशी है कि मैं आज बिना किसी भ्रष्टाचार के दाग के अपने निर्वाचन क्षेत्र के लोगों की सेवा की। आसनसोल के लोगों ने मुझे 2019 में बड़े मतों से जिताकर सांसद बनाया”

इसे भी पढ़ें-  MP Board 12th Result 2021 Declared: एमपी बोर्ड 12वीं का रिजल्ट जारी, देखें mpbse.nic.in पर

बाबुल सुप्रियो ने कहा कि बंगाल से जिन्हें मंत्री बनाया गया है उन्हें मेरी शुभकामनाएं, मैं निश्चित रूप से अपने लिए दुखी हूं, लेकिन नए मंत्री बनने वाले लोगों के लिए बहुत खुश हूं। बता दें कि बाबुल सुप्रियो ने बंगाल की आसनसोल सीट से 2014 का लोकसभा चुनाव जीता और उन्हें केंद्र सरकार में राज्य मंत्री बनाया गया था।

Advertisements