सिंधिया को एमपी में भाजपा सरकार बनाने का मिला इनाम तो एससी वर्ग का नया चेहरा होंगे वीरेंद्र कुमार

Advertisements

भोपाल। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की कैबिनेट में ज्योतिरादित्य सिंधिया और डॉ. वीरेंद्र कुमार के शामिल होने के बाद केंद्रीय मंत्रिमंडल में मध्य प्रदेश की हिस्सेदारी बढ़ गई है। पहले प्रदेश से पांच मंत्री थे, अब छह हो गए हैं।

सिंधिया का नाम काफी समय से केंद्रीय मंत्री के तौर पर तय माना जा रहा था, लेकिन डॉ. वीरेंद्र कुमार का नाम शामिल कर जातिगत संतुलन साधा गया है।

सिंधिया को एमपी में भाजपा की सरकार बनाने का इनाम मिला, एससी चेहरा होंगे वीरेंद्र कुमार

ज्योतिरादित्य सिंधिया को मध्य प्रदेश में भाजपा की सरकार बनाने का इनाम मिला है। वहीं, थावरचंद गहलोत को कर्नाटक का राज्यपाल नियुक्त करने के बाद रिक्त हुए अनुसूचित जाति वर्ग के चेहरे की भरपाई के तौर पर डॉ. वीरेंद्र कुमार को मंत्रिमंडल में शामिल किया गया है।

इसे भी पढ़ें-  IAF 2021 Recruitment: भारतीय वायुसेना में 317 पदों पर वैकेंसी, ये है आयु सीमा और योग्यता, ऐसे करें आवेदन

समर्थकों के साथ कांग्रेस छोड़कर भाजपा में शामिल होने के समय से ही सिंधिया को राज्यसभा में भेजने और फिर केंद्रीय मंत्री बनाने की चर्चा रही है।

राज्यसभा सदस्य बनने के बाद बुधवार को मोदी कैबिनेट में शामिल होने के साथ ही दोनों चर्चाएं सही साबित हुई। सिंधिया के कारण ही मध्य प्रदेश में भाजपा की सरकार बनना संभव हुआ था।

इसी कारण सिंधिया और उनके समर्थकों का महत्व प्रदेश की सत्ता और संगठन में हमेशा बरकरार रखा गया।

सिंधिया का बढ़ा सियासी कद

मोदी मंत्रिमंडल के विस्तार की चर्चा शुरू होते ही इस बात की संभावना बन गई थी कि सिंधिया को इसमें स्थान मिलेगा। सिंधिया के केंद्र में मंत्री बनाने से यह संदेश भी दिया गया है कि अन्य दलों से भाजपा में आने वालों को पार्टी के पुराने नेताओं के समान ही अधिकार और सम्मान दिया जा रहा है। प्रदेश में भी राजनीतिक लिहाज से सिंधिया का कद बढ़ा है।

इसे भी पढ़ें-  NASA discovered planet: NASA ने खोजा अजीब ग्रह, यहां सिर्फ 16 घंटे का होता है एक साल, जानिए कितनी दूर है ये प्लेनेट

 

 

 

 

Advertisements